SHARE

इस बार जब गणपति बाप्पा का आगमन होगा तो राज्य सरकार कर्मचारियों के लिए लक्ष्मी भी लाएंगे। राज्य सरकार ने सातवें वेतन आयोग के क्रियान्वयन का मुहूर्त गणेशोत्सव के दिन को चुना है। इसका मतलब है कि सातवें वेतन आयोग के तहत कर्मचारियों के खाते में उनकी बचत राशि गणेशोत्सव के दिन ही जमा होगी।

 
दो साल से था इंतजार 
राज्य सरकार की तरफ से उनके अधीन आने वाले कर्मचारियों के लिए 1 जनवरी 2016 के दिन सातवां वेतन आयोग लागू किया गया था। आयोग के 2 साल गठन होने बाद भी कर्मचारियों के खाते में बचत की जमा राशि अब तक ट्रासंफर नहीं हुई है। इसीलिए इस बार उन्हें बड़ी राहत मिली है।

'इन्हे' मिलेगी इतनी राशि 
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सरकार ने गणेशोत्सवात के दिन ही बचत राशि को कर्मचारियों के खाते में ट्रांसफर करने का फैसला किया है। जिसके अनुसार कर्मचारियों को यह राशि 1 जनवरी 2016 से ही बकाया राशि मिलेगी। इस बकाये राशि के मुताबिक प्रथम श्रेणी के कर्मचारियों के लिए 1 लाख रूपये, द्वितीय श्रेणी के कर्मचारियों के लिए 75 हजार रूपये, तृतीय श्रेणी कर्मचारियों के लिए 50 हजार रूपये तो चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के लिए 25 हजार रूपये बचत की राशि ट्रासंफर की जायेगी।  

पड़ेगा अतिरिक्त भार  
सातवां वेतन आयोग लागू करने के लिए कर्मचारी राज्य सरकार से कई दिनों से मांग कर रहे थे। इसके लागू होने के बाद राज्य सरकार की तिजोरी पर 21 हजार करोड़ रूपये का आर्थिक भार पड़ेगा।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें