अब उद्धव ठाकरे की कैबिनेट के शिक्षा मंत्री की डिग्री पर भी उठा विवाद

आरोप है कि उन्होंने जिस कॉलेज से ऑटोमोबाइल इंजिनियरिंग का डिप्लोमा लिया है, उसे सरकार से मान्यता ही नहीं मिली है।

अब उद्धव ठाकरे की कैबिनेट के शिक्षा मंत्री की डिग्री पर भी उठा विवाद
SHARES

लगता है शिक्षा मंत्रियों की शिक्षा और उनकी डिग्रियों पर उठने वाले विवाद का एक रिश्ता बनता जा रहा है। मोदी सरकार के कबिनेत्र की पूर्व  मानव संशाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी हो या महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस कैबिनेट के शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े, इन दोनों की डिग्रियों पर विवाद उठ चुका है। अब इस कड़ी में नया नाम जुड़ गया है उदय सामंत का। उदय सामंत उद्धव सरकार में उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री हैं, अब इनकी डिग्री को लेकर सवाल उठ रहे हैं। आरोप है कि उन्होंने जिस कॉलेज से ऑटोमोबाइल इंजिनियरिंग का डिप्लोमा लिया है, उसे सरकार से मान्यता ही नहीं मिली है। उद्धव सरकार के मंत्रीमंडल के गठन को जुमा-जुमा अभी कुछ ही दिन हुए लेकिन उनके मंत्री विवादों में घिरने लगे हैं।

क्या है आरोप?
उदय सामंत ने विधानसभा चुनाव के दौरान जो हलफनामा चुनाव आयोग में पेश किया था उसके मुताबिक सामंत ने पुणे की ध्यानेश्वर यूनिवर्सिटी से ऑटोमोबाइल में डिप्लोमा लिया है। लेकिन सामंत ने जिस ध्यानेश्वर यूनिवर्सिटी से ऑटोमोबाइल का कोर्स किया है उस यूनिवर्सिटी को सरकार द्वारा मान्यता ही नहीं दिया गया है।

अब जब सामंत की डिग्री पर विवाद उठा तो सामंत ने इस पर अपना जवाब भी दिया है। उन्होंने कहा है, 'मैं विपक्ष को चैलेंज देता हूं कि मेरी डिग्री को फर्जी साबित करके दिखाए। उन्होंने आगे कहा, प्रवीण दारेकर ( विधान परिषद में विपक्ष के नेता) को एक समिति का गठन करके मेरी, विनोद तावड़े की और केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी की डिग्री की जांच करनी चाहिए।'

अब जब  सामंत की डिग्री पर विवाद बढ़ा है तो विनोद तावड़े भी सामने आ गये। विनोद तावड़े ने कहा, 'जब मैं शिक्षा मंत्री था तब उस समय विपक्ष ने मेरी डिग्री को फर्जी बताया था। क्योंकि मैंने भी ध्यानेश्वर यूनिवर्सिटी में ऐडमिशन लिया था, और उस समय मुझे भी नहीं मालूम था कि यह कॉलेज को सरकार द्वारा मान्यता नहीं प्राप्त है। अब मैं कांग्रेस और एनसीपी से पूछना चाहता हूं कि अब उनका उदय सामंत की डिग्री के बारे में क्या कहना है।'

आपको बता दें कि तावड़े का नाराज होना लाजमी है क्योंकि जहां से सामंत ने पढ़ाई की है वहीं से विनोद तावड़े ने भी की थी।कांग्रेस और एनसीपी ने विनोद तावड़े पर फर्जी डिग्री होने का आरोप लगाते हुए काफी हंगामा खड़ा किया था, लेकीन अब खुद उन्हीं के शिक्षा मंत्री उदय सामंत उसी यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की है तो कांग्रेस, एनसीपी चुप क्यों है? 

संबंधित विषय