‘सरकार का मराठा क्रांती मोर्चा पर हस्ताक्षेप’

 Fort
‘सरकार का मराठा क्रांती मोर्चा पर हस्ताक्षेप’

सीएसटी - आगामी 14 दिसंबर को नागपुर में होने वाले शीतकालीन सत्र में मराठा क्रांती मोर्चा निकलने वाला है। सरकार इस मोर्चा को विफल बनाने का प्रयास कर रही है, इस तरह का आरोप मराठा क्रांती मोर्चा की ओर से लगाया गया है। मुंबई मराठी पत्रकार संघ में मराठा क्रांती मोर्चा की ओर से पत्रकार परिषद बुधवार को आयोजित की गई थी।

मुंबई, पालघर, ठाणे, कल्याण, नवी मुंबई से हजारों कार्यकर्ता नागपुर के लिए रवाना हो रहे हैं। मुंबई से नागपुर की यात्रा के लिए मराठा क्रांती मोर्चा की ओर से रेलवे से एक विशेष गाड़ी का मांग की गई थी। जिसपर लगने वाले पैसे मराठा क्रांती मोर्चा के सदस्य भरने के लिए तैयार थे। पर रेलवे प्रशासन ने विशेष गाड़ी के लिए स्लीपर कोच उपलब्ध नहीं है सिर्फ सेंकड क्लास कोच उपलब्ध है कहकर टालमटोल कर दिया। साथ ही कहा गया कि इसके लिए दिल्ली स्थित रेलवे भवन से इसकी परमीशन लेनी होगी।

जिस पर मराठा क्रांती मोर्चा का कहना है कि एक तरफ सरकार डिजीटल इंडिया की बातें करती है वहीं दूसरी तरफ दिल्ली से परमीशन लेने के लिए कहती है, यह दुखद है। सरकार चाहती है कि मराठा क्रांती मोर्चा नागपुर न पहुंचे।

Loading Comments