'1 दिसंबर को जश्न नहीं मराठाओं का आक्रोश दिखेगा'


SHARE

हाल ही में सीएम देवेंद्र फडणवीस ने मराठा समाज को आरक्षण देने के मुद्दे पर कहा था कि 1 दिसंबर को जश्न मनाने की तैयारी करो। लेकिन मराठा समाज में अभी भी संशय की स्थिति बनी हुई है क्योंकि आरक्षण को लेकर बीजेपी में जश्न मनाने की बात तो कह दी लेकिन अभी तक उस बाबत कोई कदम नहीं उठाया। 

जश्न नहीं आक्रोश दिखेगा
मुंबई लाइव से बात करते हुए मराठा समाज के समन्वयक आबा पाटील ने कहा कि 1 दिसंबर को मात्र हफ्ते भर ही रहे गए हैं, हमने सरकार को 30 नवंबर तक का ही समय दिया था। अगर 30 नवंबर तक आरक्षण के संदर्भ में कुछ नहीं किया गया तो 1 दिसंबर को जश्न नहीं मराठाओं का आक्रोश दिखेगा।

कई बातें स्पष्ट नहीं?
आरक्षण पर बोलते हुए सरकार द्वारा उठाये जाने वाले कदमों पर नाराजगी जताते हुए पाटील का कहना है कि आरक्षण को लेकर सरकार भले ही सकारात्मक दिखाई देती है लेकिन आरक्षण कब मिलेगा, कैसे मिलेगा, कितना मिलेगा इस बारे में अभी भी स्पष्ट नहीं हुआ है।  

विधायकों की बैठक टली 
पाटील ने आगे कहा कि मराठा आरक्षण को लेकर राज्य पिछड़ा वर्ग ने जो रिपोर्ट बनाई है उस पर चर्चा करने के लिए गुरुवार को हमने सभी पार्टियों के विधायकों की बैठक बुलाई थी लेकिन किन्ही कारणों से यह बैठक टल गयी, अब यह बैठक 27 नवंबर को होगी। 

समिति क्या करेगी?
गुरुवार रात सरकार की तरफ से उपसमिति स्थापित की गयी, विधानसभा का कामकाज छुट्टी के कारण लगातार तीन दिन बंद रहेगा। इसीलिए अब इस पर आगे कब निर्णय लिया जाएगा। इसीलिए 1 दिसंबर को जश्न नहीं आक्रोश मनाएंगे।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें