'महाराष्ट्र में हर मीडियम के स्कूलों में मराठी भाषा होगी अनिवार्य'

उद्योग मंत्री सुभाष देसाई ने कहा, अगले महीने में होने वाली विधानसभा सत्र में सरकार एक कानून बनाएगी जिसमें हर मीडियम के स्कूलों को पहली से लेकर दसवीं तक मराठी भाषा की पढ़ाई अनिवार्य होगी।

SHARE

महाराष्ट्र के सभी स्कूलों में अब मराठी भाषा अनिवार्य रूप से पढ़ाई जाएगी, चाहे वह किसी भी माध्यम का स्कूल हो। इस बात की जानकारी महाराष्ट्र के उद्योग मंत्री सुभाष देसाई ने मंगलवार को एक कार्यक्रम में दी। शिवसेना नेता देसाई ने कहा कि इस संबंध में विधेयक का मसौदा तैयार किया जा रहा है।

उद्योग मंत्री सुभाष देसाई ने कहा, अगले महीने में होने वाली विधानसभा सत्र में सरकार एक कानून बनाएगी जिसमें हर मीडियम के स्कूलों को पहली से लेकर दसवीं तक मराठी भाषा की पढ़ाई अनिवार्य होगी। चाहे उनमें किसी भी माध्यम में पढ़ाई होती हो।

उन्होंने कहा, कई स्कूलों में मराठी नहीं पढ़ाई जाती या उसे वैकल्पिक विषय के रूप में रखा जाता है। लेकिन अब ऐसे सभी स्कूलों में मराठी भाषा की पढ़ाई अनिवार्य होगी। उन्होंने बतया कि राज्य में अंग्रेजी माध्यम के 25 हजार स्कूल हैं और उनकी संख्या बढ़ रही है।

आपको बता दें कि इसके पहले सुभाष देसाई ने कहा था कि, राज्य सरकार के काम के लिए अगर कोई फ़ाइल मराठी भाषा के अतिरिक्त आती है तो उसे वापस भेज दिया जाएगा। उन्होंने कहा था कि, काम करने वाले नौकरशाहों का नजरिया अंग्रेजी वाला होता है, उन्होने कहा इसे बदलने की जरूरत है। 

पढ़ें: मराठी के अलावा किसी भी अन्य भाषा की फाइल को वापस भेज दिया जाएगा- सुभाष देसाई 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें