Advertisement

कुछ भी हो, अतिरिक्त बिजली बिल का भुगतान न करें - राज ठाकरे

बढ़े हुए बीजली के बिलों पर मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे ने राज्य के लोगों से अपील की है कि सरकार असहयोग का आह्वान किए बिना लोगों के असंतोष को महसूस नहीं करेगी।

कुछ भी हो, अतिरिक्त बिजली बिल का भुगतान न करें - राज ठाकरे
SHARES

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) ने शुक्रवार को MSEDCL कार्यालय में बढ़े हुए बिजली बिल के विरोध में प्रदर्शन किया।  इस समय, मनसे ने बढ़े हुए बिजली बिल की माफी के बारे में एक बयान दिया है। मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे ने लोगों से अपील की है कि कुछ भी हो जाए, बढ़े हुए बिजली बिल का भुगतान न करें।  मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे ने राज्य के लोगों से अपील की है कि सरकार असहयोग का आह्वान किए बिना लोगों के असंतोष को महसूस नहीं करेगी।

इस संबंध में अपनी भूमिका के बारे में बताते हुए, राज ठाकरे ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कोरोना काल के दौरान, महाराष्ट्र के लोगों को सड़को पर आना पड़ा और एक आंदोलन करना पड़ा।  लेकिन सरकार याचिकाकर्ताओं की भाषा नहीं समझती है।  तो यह सामने वाले की भाषा समझने का समय है।

लॉकडाउन ने नागरिकों को भारी वित्तीय नुकसान पहुंचाया है।  लोगों का धंधे में काफी नुकसान हुआ। कई ने अपनी नौकरी खो दी और एक ओर बीमारी का डर और दूसरी ओर अस्थिर अर्थव्यवस्था।  सरकार ने जनता को वार्षिक बिजली बिल के समान बिजली के केवल तीन महीने के उपयोग का शुल्क भेजा। 

अप्रैल-मई-जून के दौरान कई निजी कार्यालय प्रतिष्ठान बंद थे।  फिर भी उन्हें बिजली के भारी बिल भेजा गया। पूर्व में, विदेशी शासन में ज्यादा कर लगाया जाता था, इस सरकार ने बिजली के बिलों के माध्यम से ज्यादा कर लगाया और लोगों को लूटना शुरू कर दिया।

एमएनएस नेताओं ने इस मुद्दे पर ऊर्जा मंत्री नितिन राउत (Nitin raut )से मुलाकात की।  लोगों ने उनसे शिकायत की। उन्होंने कहा कि सरकार इस संबंध में कुछ सकारात्मक कदम उठाएगी।  इससे आगे कुछ नहीं हुआ।  इसके बाद हम मामले को राज्यपाल के पास ले गए। 

यह भी पढ़ेबच्चों को साथ लेकर लोकल ट्रेन में यात्रा करने वाली महिलाओं को अब 'नो एंट्री'

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
Advertisement