मनसे महाअधिवेशन: राज ठाकरे अपने बेटे अमित ठाकरे को कर सकते हैं लॉन्च?

मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे इस महाअधिवेशन में अपने बेटे अमित ठाकरे को कोई महत्वपूर्ण पद देकर उनका चुनावी आगाज शुरु कर सकते हैं। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) यानी मनसे 23 जनवरी को अपना पहला महाअधिवेशन करने जा रही है।

SHARE

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) यानी मनसे 23 जनवरी को अपना पहला महाअधिवेशन करने जा रही है बताया जा रहा है कि इस दिन मनसे कई बड़े फ़ैसले ले सकती है यही नहीं इस बात की भी संभावना जताई जा रही है कि पार्टी इस महाअधिवेशन में बीजेपी के साथ गठबंधन और हिंदुत्व के मुद्दे पर अपनी नीति स्पष्ट कर सकती है और सबसे बड़ी बात कि, खबर यह भी है कि मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे इस महाअधिवेशन में अपने बेटे अमित ठाकरे को कोई महत्वपूर्ण पद देकर उनका चुनावी आगाज शुरु कर सकते हैं

राजनीतिक सूत्रों की मानें तो जिस तरह से बीजेपी पिछले कई चुनावों से युवा चेहरे को मौका देकर युवाओं में अपनी पैठ बनाई है और शिव सेना भी राजनीति के पिच पर आदित्य ठाकरे को उतार कर युवाओं को अपनी तरफ लुभाने में लग गयी है, तो ऐसे में हर किसी की नजर राज ठाकरे के बेटे अमित ठाकरे पर थी लोग इस बात के इंतजार में थे कि आखिर अमित ठाकरे कब अपने राजनीतिक पारी की शुरुआत करेंगे।

तो ऐसे में मौका 23 जनवरी को होने वाले महाअधिवेशन का सूत्रों की माने तो इस बात की पूरी संभावना है कि राज ठाकरे अपने बेटे अमित ठाकरे को सक्रिय राजनीति में ला सकते हैं यही नहीं जानकारों का यह भी कहना है कि, यह कोई अप्रत्याशित बात नहीं है, पार्टी काफी समय पहले से ही अमित ठाकरे को लॉन्च करने की तैयारी में थी

राजनीति के जानकारों की मानें तो मनसे इससे कई हित साध सकती है पहला अमित ठाकरे द्वारा राजनीती में पदार्पण करने से पार्टी को युवा चेहरा मिल जाएगा। दूसरा और सबसे महत्वपूर्व बात अमित ठाकरे महाराष्ट्र की कैबिनेट में मंत्री और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे को सीधे-सीधे चुनौती भी दे सकते हैं 

आपको बता दें कि, अमित ठाकरे, आदित्य ठाकरे के ही समकक्ष के हैं जो परिवार की तीसरी पीढ़ी से आते हैं राजनीति में क़दम रख सकते हैं. 

वैसे एक बात यह भी देखा रहा है कि पिछले काफी समय से अमित ठाकरे कई बार अपने पिता राज ठाकरे के साथ राजनैतिक मंच साझा करते हुए दिखाई दिये हैं यही नहीं अमित कई बार कार्यकर्ताओं के साथ मीटिंग भी करते हैं और अपनी बात भी  रखते हैं इस बारे में पार्टी के कार्यकर्ताओं का कहना है कि अमित ठाकरे सक्रीय राजनीती में आए यह सभी की इच्छा है लेकिन इस बारे में राज ठाकरे ही अंतिम निर्णय लेंगे।

पढ़ें: पारिवारिक कार्यक्रम में राज ठाकरे के बेटे अमित ठाकरे ने की गाई !

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें