Advertisement

मुंबई पुलिस ने मनसे को रूट बदलने की दी सलाह, मनसे 9 फरवरी को निकालने वाली है मोर्चा

इस मोर्चे के मंजूरी के लिए मनसे ने मुंबई पुलिस (mumbai police) से निवेदन भी दिया था, लेकिन मुंबई पुलिस ने मनसे को इस रूट से मोर्चा निकालने की मंजूरी नहीं दी। पुलिस ने मनसे को कोई दूसरा वैकल्पिक रास्ता भी तलाशने को कहा है।

मुंबई पुलिस ने मनसे को रूट बदलने की दी सलाह, मनसे 9 फरवरी को निकालने वाली है मोर्चा
SHARES
Advertisement


भारत (india) में अवैध रूप से रहने वाले बांग्लादेशी (bangladeshi) और पाकिस्तान (pakistan) नागरिकों के खिलाफ मनसे यानी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) 9 फरवरी को सड़क पर मोर्चा आंदोलन (march protest) निकालने वाली है। मनसे इस मोर्चा को भायखला (byculla) से लेकर आजाद मैदान(azad maidan) तक निकालने वाली है इस मोर्चे के मंजूरी के लिए मनसे ने मुंबई पुलिस (mumbai police) से निवेदन भी दिया था, लेकिन मुंबई पुलिस ने मनसे को इस रूट से मोर्चा निकालने की मंजूरी नहीं दी पुलिस ने मनसे को कोई दूसरा वैकल्पिक रास्ता भी तलाशने को कहा है यानी अब मनसे भायखला से लेकर आजाद मैदान तक जाने वाले रास्ते का उपयोग नहीं कर सकती  

मनसे द्वारा यह मोर्चा भायखला से लेकर जिजामाता उद्यान (jijamata udyan) होते हुए आजाद मैदान तक जाना था इस आयोजन के लिए मनसे ने मुंबई पुलिस से मंजूरी मांगी थी

मनसे जिस रूट से मनसे अपना मोर्चा निकालेगी वह मुस्लिम बहुल इलाका है मुंबई पुलिस को इस बात का डर है कि, इस रूट से मोर्चा निकालने पर कुछ अप्रिय घटना घट सकती है जिससे इसीलिए शहर की कानून व्यवस्था बिगड़ सकती है। इसीलिए पुलिस ने मनसे को इस रूट से मोर्चा निकालने की मंजूरी नहीं दी

साथ ही राज ठाकरे ने अपने अधिवेशन में मस्जिद में लगे लाउड स्पीकर के बारे में भी आपत्तिजनक टिप्पणी की थी, जिससे मुस्लिम उनसे नाराज बताए जा रहे हैं इसीलिए पुलिस और भी एहतियात बरत रही है यही कारण है कि, पुलिस नहीं चाहती कि राज ठाकरे अपने मोर्चे को यहां से ले जाएं 

इस बात मनसे के पदाधिकारियों और मुंबई पुलिस के अधिकारीयों के बीच एक बैठक भी हुई इस बैठक में पुलिस ने मनसे को वैकल्पिक मार्ग बताते हुए भायखला से आजाद मैदान की जगह मरीन ड्राइव से लेकर आजाद मैदान तक मोर्चा निकालने की सलाह दी

बैठक समाप्त होने के बाद एक मनसे के पदाधिकारी ने बताया कि, पार्टी ने पुलिस की बातों पर गौर किया पार्टी अब हिंदू जिमखाना से लेकर आजाद मैदान तक मोर्चा निकाल सकती है, हालांकि अनितं निर्णय पार्टी ही लेगी

आपको बता दें कि अभी हाल ही में MNS ने अपना पहला राज्यव्यापी अधिवेशन का आयोजन किया था जिसमें उन्होंने कहा था कि, देश में अवैध रूप से रहने वाले बांग्लादेशियों और पाकिस्तानियों को बाहर निकालन चाहिए यही नहीं राज ने इसके खिलाफ 9 जनवरी मोर्चा निकालने की भी बात कही थी

पढ़ें: CAA को मनसे ने नहीं दिया था समर्थन, अवैध रूप से रह रहे पाकिस्तानियों और बांग्लादेशियों को करो बाहर- मनसे

संबंधित विषय
Advertisement