Advertisement

मनसे मोर्चा की कर रही है तैयारी, पुलिस ने दी नोटिस

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (maharashtra navnirman sena) रविवार, 9 फरवरी को मुंबई में मोर्चा निकाल रही है, जिसमें अवैध रूप से देश में रह रहे बांग्लादेशी और पाकिस्तानी घुसपैठियों को बाहर निकालने की मांग की गई है।

मनसे मोर्चा की कर रही है तैयारी, पुलिस ने दी नोटिस
SHARES


महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (maharashtra navnirman sena) रविवार, 9 फरवरी को मुंबई में मोर्चा निकाल रही है, जिसमें अवैध रूप से देश में रह रहे बांग्लादेशी और पाकिस्तानी घुसपैठियों को बाहर निकालने की मांग की गई है। मुंबई पुलिस की ओर से मनसे के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को नोटिस भेजे गए हैं, जबकि इस मार्च के लिए भारी तैयारी चल रही है।

आप इस मार्च का सीधा प्रसारण मुंबई लाइव के फेसबुक पेज पर देख सकते हैं।

मनसे ने देश में घुसपैठियों के खिलाफ आक्रामक रुख अपनाया है।

मनसे की तरफ से कहा गया है कि, भारत मेरा देश है। सभी भारतीय मेरे भाई हैं। मुझे अपने देश से प्यार है। लेकिन ...

पाकिस्तानी और बांग्लादेशी घुसपैठिए मेरे भाई नहीं हैं। वे भारतीय नहीं हैं। उन्हें इस देश से बाहर निकालना चाहिए क्योंकि भारत कोई धर्मशाला नहीं है। तो रविवार 9 फरवरी को दोपहर 12 बजे गिरगांव चौपाटी हिंदू जिमखाना से आजाद मैदान तक चलने वाली मोर्चा में बड़ी संख्या में शामिल हों! 

इसके पहले इस मोर्चा के लिए, MNS ने भायखला से आज़ाद मैदान तक जाने का निर्णय किया  था। लेकिन इस मार्ग पर मुस्लिम आबादी होने के कारण, मुंबई पुलिस ने कानून और व्यवस्था को लेकर इस मार्ग से अनुमति देने से इनकार कर दिया।

क्योंकि राज ठाकरे ने अपने अधिवेशन में मस्जिद पर लाउड स्पीकर लगाने का विरोध किया था साथ ही सीएए-एनआरसी का विरोध करने वाले मुसलमानों पर आपत्ति भी जताई थी इसके आलावा सड़क पर नमाज पढ़ने का भी विरोध किया था।

MNS के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने घुसपैठियों के खिलाफ पोस्टर लगाए हैं, और सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट करके, MNS माहौल बनाने की कोशिश कर रहा है। मार्च की तैयारी चल रही है, मुंबई पुलिस ने एमएनएस के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को धारा 143, 144 और 149 के अनुसार नोटिस भेजा है, जिसमें कहा यगा है कि मोर्चा के दौरान कानून और व्यवस्था को न बिगाड़े। साथ ही चेतावनी भी दी गयी है कि अगर कानून व्यवस्था बिगाड़ने की कोशिश की जायेगी तो  पार्टी के अधिकारियों और कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई की जाएगी।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय