राज ठाकरे के निशाने पर क्यो है बुलेट ट्रेन ?

 Mumbai
राज ठाकरे के निशाने पर क्यो है बुलेट ट्रेन ?

गुरुवार को मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने चर्चगेट में एलफिन्स्टन स्टेशन भगदड़ के खिलाफ रेलवे और केंद्र सरकार के विरोध में मोर्चे का आयोजन किया। इस मोर्चे को संबोधित करते हुए राज ठाकरे ने रेलवे के साथ साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी जमकर निशाना साधा।

राज ठाकरे ने रेलवे की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल तो उठाए , साथ ही नरेंद्र मोदी के ड्रिम प्रोजेक्ट बूलेट ट्रेन को भी आड़े हाथों लिया, राज ठाकरे ने बुलेट ट्रेन के प्रोजेक्ट पर ही निशाना साधते हुए कह डाला की इस बुलेट ट्रेन को सिर्फ मुठ्ठीभर गुजरातियों के लिए बनाया जा रहा है, इससे आम मुंबईकर को कोई फायदा होनेवाला नहीं है। तो वही दूसरी तरफ राज ठाकरे ने रेलवे पर भी निशाना साधते हुए उसकी सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़ा किए और 15 दिनों के अंदर सभी फेरीवालों को स्टेशन से हटाने का आवेदन दिया और कहा की अगर फेरीवालो को 15 दिनों में नहीं हटाया गया तो 16वें दिन से मनसे अपने स्टाइल से इन फेरीवालों को हटाएगी।


आखिर क्यो राज ठाकरे साध रहे है बूलेट ट्रेन पर निशाना ?
1 लाख करोड़ के आसपास की लागत से बन रही बुलेट ट्रेन का उद्घाटन अहमदाबाद में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मिलकर किया था। बुलेट ट्रेन को प्रधानमंत्री का ड्रिम प्रोजेक्ट माना जा रहा है। दरअसल गुजरात के कई इलाको से लोग मुंबई और मुंबई से कई लोग गुजरात व्यापार के सिलसिले में आते जाते है, मुंबई से अहमदाबाद फ्लाईट से पहुंचा जा सकता है ,लेकिन इन दोनों के बीच में अगर किसी को किसी और जगह पर आना जाना होता है तो उसे ट्रेन या फिर बस का ही इस्तेमाल करना होता है। बुलेट ट्रेन के जरिए गुजरात के अहमदाबाद से महाराष्ट्र के कई इलाके जैसे विरार, बोयसर, बीकेसी, ठाणे में कम समय में पहुंचा जा सकता है ऐसे कयास लगाए जा रहे है की इसका ज्यादातर फायदा गुजरात में रहनेवालो को मिल सकता है।

मनसे को क्यो है गुजराती वोट बैंक से परहेज
दरअसल पिछलें कई चुनावों में मनसे ने लगातार अपना जनाधार खोया है। लोकसभा, विधानसभा और फिर नगरसेवक के चुनाव तक में उसे मुंह की खानी पड़ी है। हालही में मीरा भायंदर में हुए चुनाव में ऐसा माना जा रहा है की भी गुजराती समाज के एक गुरु के कहने पर गुजरात वोट बैंक बीजेपी के पक्ष में चला गया था, इसके अलावा जैन धर्म के पर्युषण त्यौहार पर भी मनसे और जैन समुदाय एक दूसरे के आमने सामने आते रहे है।


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दें) 



Loading Comments