• बढ़ते तेल के दामों के विरोध में एनसीपी का 'कुछ मीठा हो जाए' आंदोलन
  • बढ़ते तेल के दामों के विरोध में एनसीपी का 'कुछ मीठा हो जाए' आंदोलन
SHARE

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में एनसीपी की तरफ से चेंबूर में मोर्चा निकाला गया। एनसीपी के प्रवक्ता नवाब मलिक के नेतृत्व में निकाले गए इस मोर्चे का नाम 'कुछ मीठा हो जाये' दिया गया था। एनसीपी कार्यकर्ताओं ने तमाम पेट्रोल पंप पर जाकर शक़्कर बांटा और सरकार का विरोध किया। यही नहीं बढ़ते हुए तेल के दामों को लेकर एनसीपी ने बाइक प्रेत यात्रा निकाल शोक सभा का भी आयोजन किया। इस मोर्चे में एनसीपी के कई महिल और पुरुष कार्यकर्ता शामिल हुए।

 
जनता को लूट रही सरकार 
नावब मलिक ने बढ़ते हुए तेल के दामों को लेकर केंद्र की बीजेपी और फडणवीस सरकार पर निशाना साधा और कहा कि तेल के दामों में वृद्धि कर सरकार जनता को लूट रही है। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान तेल को जीएसटी के अंतर्गत लाने का आश्वासन तो देते हैं लेकिन कोई ठोस निर्णय नहीं ले पा रहे हैं।

फणनवीस पर हमला बोलते हुए मलिक ने कहा कि फडणवीस कहते हैं कि हमारे हाथ में कुछ नहीं है इसीलिए हम इस पर कोई निर्णय नहीं ले सकते।

मलिक ने सवाल उठाया कि जीएसटी काउंसिल में जब सरकार बहुमत में है तो निर्णय लेने में देरी क्यों हो रही है?


पेट्रोल और डीजल के दामों में एक पैसे की कमी हुई है. एक पैसा कम करके क्या सरकार जनता को भीख दे रही है। जब तक तेल के दामों में कमी नहीं हो जाती तब तक हमारा यह आंदोलन नहीं रुकेगा। नवाब मालिक , प्रवक्ता, एनसीपी 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें