मालाड और दीघा में अवैध निर्माण कार्य को तोड़ने के विरोध में एनसीपी

 Azad Maidan
मालाड और दीघा में अवैध निर्माण कार्य को तोड़ने के विरोध में एनसीपी
मालाड और दीघा में अवैध निर्माण कार्य को तोड़ने के विरोध में एनसीपी
मालाड और दीघा में अवैध निर्माण कार्य को तोड़ने के विरोध में एनसीपी
See all

मुंबई - नवी मुंबई के दिघा में और मुंबई मालाड के आम्बेडकर नगर में जिन अवैध झोपड़पट्टी निर्माणों को तोड़ा गया उसी के विरोध में एनसीपी ने आजाद मैदान में 10 मार्च को आन्दोलन किया।


एनसीपी की नेता विद्या चव्हाण के नेतृत्व में यह आन्दोलन किया गया। इनकी मांग थी कि जिन ईमारतों को तोड़ा गया है पीड़ित परिवारों को उसी स्थान पर जगह दिया जाए. साथ ही मालाड में भी झोपड़पट्टी धारकों का फिर से पुनर्वसन हो।

इस मौके पर एनसीपी नेता जयंत पाटील, विद्या चव्हाण, विधायक बच्चू कडू भी उपस्थित थे। बच्चू कडू ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि कमल की सरकार ने हमेशा से ही गरीबों के पेट पर लात मारा है जबकि एनसीपी ने हमेशा से ही गरिबो के हक़ के लिए आवाज उठाया है।


तो वही राष्ट्रवादी के नेता जयंत पाटिल ने कहा कि दिघा वासियों के साथ साथ मुंबई के मालाड में जिन झोपड़ों पर कार्रवाई की गयी है विद्याताई उसका विरोध कर रही हैं और उसके लिए संघर्ष कर रही हैं।

पाटिल ने आगे कहा कि मामला सुप्रीम कोर्ट में जाएगा लेकिन निचली अदालत के आदेशानुसार जिन्होंने 7 हजार रूपये मनपा में भरा है उन 32 हजार लोगों में से 12 हजार लोगों को चांदीवली में घर दिया गया है, लेकिन अन्य बचे हुए लोगों का भी पुनर्वसन करने की मांग हम सरकार से करेंगे।

Loading Comments