शुक्रवार को खुद ईडी कार्यालय जा सकते है शरद पवार

ईडी ने महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक घोटाले के सिलसिले में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार के साथ साथ 70 लोगों पर एफआईआर दर्ज की है

SHARE

महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक घोटाले मामले में ईडी ने एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार के साथ साथ 70 अन्य लोगों पर एफआईआर दर्ज की है। जिसके बाद एनसीपी कार्यकर्ताओं ने बुधवार को ईडी कार्यालय के सामने विरोध प्रदर्शन किया। अब खबरें आ रही है की शरद पवार खुद शुक्रवार को ईडी कार्यालय में जा सकते है, हालांकी अभी तक शरद पवार को ईडी कार्यालय से किसी भी तरह का कोई भी नोटिस नहीं मिला है।

ED ने महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक (MSCB) घोटाला मामले में पवार और अन्य के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया है। पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र में महात्मा ज्योतिबा फुले और छत्रपति शिवाजी महाराज के आदर्शों पर चलने की एक लंबी परंपरा है, इसलिए "हम दिल्ली के तख्त के सामने कभी भी   आत्मसमर्पण नहीं करना चाहिये"

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को मुंबई में ईडी कार्यालय के सामने विरोध प्रदर्शन किया। राज्य में अन्य जगहों पर भी विरोध प्रदर्शन हुए।  मामला मुंबई पुलिस की एफआईआर पर आधारित है, जिसमें बैंक के पूर्व अध्यक्षों, अजीत पवार और सहकारी बैंक के 70 पूर्व पदाधिकारियों का नाम था।

ईडी जांच का सामना करने वाले पवार राज्य के दूसरे प्रमुख राजनेता हैं। 22 अगस्त को, मनसे प्रमुख राज ठाकरे को एजेंसी द्वारा मनी-लॉन्ड्रिंग मामले में पुछताछ किया गया था। 

यह भी पढ़े- Maharashtra assembly elections- AAP ने फूंका चुनावी बिगुल

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें