SHARE

भले ही कांग्रेस के राष्ट्रिय अध्यक्ष राहुल गांधी आने वाले चुनाव में सबसे अधिक सीटें जीत कर पीएम बनने का सपना देख रहे हो लेकिन इस बात के लिए खुद उनके ही सहयोगी पार्टियों में एक राय नहीं है। यह बात तब सामने आई जब कांग्रेस सहयोगी पार्टी एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार एक सभा में अपने विचार व्यक्त किए। सोमवार को मुंबई के यशवंतराव चव्हाण सभागृह में एनसीपी कार्यकर्ताओं की बैठक थी, जिसमें पवार ने आने वाले चुनाव को लेकर कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन किया।

क्या कहा पवार ने?
पवार ने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी का पीएम उम्मीदवार नहीं हो सकता, क्योंकि जिस पार्टी से सबसे अधिक सांसद जीत कर आएंगे उसी पार्टी का ही पीएम बनेगा। इस बदलाव के लिए सभी को तैयार रहना पड़ेगा, और ऐसी ही पार्टियों को एनसीपी का भी समर्थन मिलेगा। बताया जा रहा है कि पवार ने ऐसा इसीलिए कहा क्योंकि अभी हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल ने कहा था कि वे पीएम पद के लिए उम्मीदवार के बारे में नहीं सोच रहे है। पवार के अनुसार जनता चालाक है, वहीं मोदी का विकल्प पैदा करेगी। कांग्रेस ही मोदी का विकल्प नहीं हो सकती।


बीजेपी के खिलाफ आए सभी पार्टियां 
दाभोलकर, कालबुर्गी, लंकेश गौरी हत्याकांड पर पवार ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि बुद्धजीवियों पर हमला करना मतलब धर्मनिरपेक्षता पर हमला करना है। जो संगठन ऐसा कर रहा है उसका विरोध सभी को करना चाहिए। सभी पार्टियों को बीजेपी के खिलाफ एकजुट होकर आना चाहिए।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें