Advertisement

खडसे के आने से कोई नाराज नहीं है: शरद पवार

शरद पवार ने कहा, नई पीढ़ी बड़ी संख्या में एनसीपी में शामिल होने के लिए उत्सुक है। कुछ जगहों पर पार्टी की ताकत बढ़ाने की जरूरत है। धुले, जलगांव, नंदुरबार में काम करने की जरूरत है।

खडसे के आने से कोई नाराज नहीं है:  शरद पवार
SHARES

खडसे के पार्टी में आने के बाद पार्टी के कुछ नेता नाराज बताए जा रहे हैं? इस बारे में बोलते हुए NCP प्रमुख शरद पवार ने कहा कि, एकनाथ खडसे के पार्टी में आने के बाद कोई भी नाराज नहीं है। किसी के काम में कोई बदलाव नहीं होगा, जो हैं वहीं रहेगा। इसके विपरीत, एकनाथ खडसे के आने से NCP की ताकत बढ़ जाएगी।

खड़से शरद पवार की उपस्थिति में शुक्रवार को राकांपा में शामिल हुए। 

शरद पवार ने कहा, नई पीढ़ी बड़ी संख्या में एनसीपी में शामिल होने के लिए उत्सुक है। कुछ जगहों पर पार्टी की ताकत बढ़ाने की जरूरत है। धुले, जलगांव, नंदुरबार में काम करने की जरूरत है।

उन्होंने आगे कहा, एक समय था जब जलगाँव जिला पूरी तरह से राष्ट्रवादी विचारधारा का था। लेकिन भाजपा की ताकत बढ़ने से राष्ट्रवादी की विचारधारा पीछे छूट गई। और इसकी वजह हैं एकनाथ खडसे। खडसे ने जलगांव में भाजपा को विकसित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। लेकिन उनकी पार्टी ने उनके साथ अन्याय किया।

पवार ने खडसे की प्रशंसा करते हुए कहा, नाथाभाउ (एकनाथ खडसे) के कार्य से पार्टी के काम में तेजी आएगी। खडसे जो करते हैं फिर पीछे मुड़कर नहीं देखते, यही उनके काम करने  का तरीका है। इसलिए, एकनाथ खडसे का अनुभव पार्टी के लिए अमूल्य साबित होगा।

तमाम आशंकाओं और आरोपों का जवाब देते हुए NCP चीफ शरद पवार ने कहा, जब खडसे एनसीपी में शामिल हुए, तो उन्होंने मुझसे कोई भी उम्मीद नहीं जताई थी। किसी ने कहा कि, उनके आने से अजीतदादा नाराज हैं। यह सब सुनकर मुझे आश्चर्य हुआ।

पवार ने आगे कहा, कई लोग कह रहे थे कि, खडसे के आने से कई लोग नाराज हैं, इसलिए सरकार का कोई आदमी यहां नजर नही आ रहा है। लेकिन मैं बता दूं कि, कोरोना के कारण यहां लोगों को आने के लिए मना किया गया था। उन्होंने दोहराया कि पार्टी में कुछ नहीं बदलेगा।

साथ ही शरद पवार ने मंत्रिमंडल में फेरबदल की संभावना से भी इनकार करते हुए कहा कि जो लोग हैं, वहीं काम करते रहेंगे।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
Advertisement