SHARE

आरक्षण की मांग को लेकर मुंबई सहित महाराष्ट्र के कई जिलों में उपद्रव करके अशांति फ़ैलाने वाले उपद्रवियों पर पुलिस ने केस दर्ज किया है। इसी बीच विधान परिषद में विरोधी पक्ष के नेता धनंजय मुंडे ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को पत्र लिख कर उपद्रवियों पर लगे केस को हटाने की मांग की है। मुंडे ने पत्र में लिखा है कि इन युवाओं ने मात्र केवल बदले की भावना से ऐसा किया है।

 
कई उपद्रवियों पर हुआ केस 

आपको बता दें कि मराठा आरक्षण की मांग करते हुए कई उपद्रवियों ने कई स्थानों पर पत्थरबाजी, सड़क जाम, आगजनी, सरकारी सम्पत्तियों को नुकसान पहुँचाना, दुकानदारों से मारपीट जैसे अपराधों को अंजाम दिया था। इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए राज्यभर से 155 से अधिक लोगों पर केस दर्ज किया और कई उपद्रवियों को गिरफ्तार किया था।

 

कार्रवाई से मराठा समाज नाराज 

पुलिस की इस कार्रवाई के बाद से मराठा समाज नाराज बताया जाता है। मराठा समाज गिरफ्तार युवाओं को छोड़ने और केस वापस लेने की मांग कर रहा है। मुंडे ने सरकार से मांग की है कि वे राज्य के सभी पुलिस विभाग के प्रमुखों को इस बाबत दिशा निर्देश जारी कर मराठा युवाओं के खिलाफ कार्रवाई रोकने का आदेश जारी करे।


भविष्य होगा ख़राब 

मुंडे ने वह भी कहा कि इन युवाओं के खिलाफ केस दर्ज करने से इनका भविष्य खराब होगा। सरकार जब इन युवाओं का भविष्य नहीं बना सकती तो इन्हे झूठे आरोप में भी नहीं फंसना चाहिए।

यह भी पढ़ें: मराठा आंदोलन: हिंसक आंदोलन में 447 उपद्रवी पुलिस हिरासत में

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें