कहीं ये बगावत भारी ना पड़ जाए...

 Mumbai
कहीं ये बगावत भारी ना पड़ जाए...

मुंबई - बगावत के चलते कुछ पार्टियों ने उम्मीदवारों की लिस्ट घाषित करने के बजाय अंतिम समय पर प्रत्याशियों को सीधे ए/ बी फॉर्म वितरित कर दिया। जैसे ही सोशल मीडिया पर यह खबर फैली बाकी इच्छुक उम्मीदवार जिनके पत्ते कट गए थे वे बगावत पर उतर आए।

युवासेना के कोषाध्यक्ष अमेय घोले और शिवसेना नगरसेविका किशोरी पेडणेकर को उम्मीदवारी मिलने से शिवसैनिकों ने तीव्र नाराजी व्यक्त की। दादर-माहिम में विधायक सदा सरवणकर के पुत्र समाधान सरवणकर को प्रभाग 194 से उम्मीदवारी दिए जाने से

शाखाप्रमुख महेश सावंत और पूर्व शाखाप्रमुख सुनील पावसकर ने निर्दलीय नामांकन कर दिया। पूर्व महापौर श्रद्धा जाधव के विरोध में उनकी पार्टी की साधना राऊल ने नामांकन किया है। जोगेश्वरी में पूर्व नगरसेवक शैलेश परब ने बाला नर के विरोध में प्रभाग 77 से निर्दलीय पर्चा भरा है।

माहीम मेंं प्रभाग 190 से पूर्व उपविभागप्रमुख राजू पाटणकर की पत्नी वैशाली पाटणकर की उम्मीदवारी के विरोध में महिला शाखाप्रमुख रोहिता ठाकुर ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर नामांकन दाखिल किया है। वहीं मुलुंड में प्रभाग 106 से राष्ट्रवादी कांग्रेस के अधिकृत उम्मीदवार और वर्तमान नगरसेवक नंदू वैती के विरोध में अभिजित चव्हाण ने पर्चा भरा है।

वरली में राष्ट्रवादी कांग्रेस के विरोध में पूर्व नगरसेविका अनिता नायर निर्दलीय चुनाव लड़ रही हैं।

Loading Comments