आरटीआई ने खोली शिवशाही की पोल

 Goregaon
आरटीआई ने खोली शिवशाही की पोल

गोरेगाव - शिवशाही पुनर्वसन परियोजना समिति कंपनी के 56 फीसदी पद आज तक नहीं भरे गए हैं। यह खुलासा हुआ है आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली द्वारा आरटीआई के माध्यम से मांगी गई जानकारी द्वारा। इस कंपनी की स्थापना 25 सितंबर 1998 में शिवसेना-भाजपा सरकार के कार्यकाल में हुई थी। कंपनी के निर्माण का उद्देश्य गरीब लोगों को उनका घर उपलब्ध करवाना है। शिवशाही पुनर्वसन परियोजन समिति कंपनी की जनसूचना अधिकारी और सहायक प्रबंधक(प्रशासन) सुगंधा पवार ने सूचित किया कि सभी प्रकार 73 पद हैं जिसमें सिर्फ 32 पद भरे गए हैं जबकि 41 पद रिक्त हैं। जिसमें सर्वाधिक रिक्त पद उप समाज अधिकारी के हैं। इसके अलावा सह व्यवस्थापकीय संचालक, सर्वेयर, अधीक्षक, लेखा अधिकारी, जनसंपर्क अधिकारी, उप मुख्य अभियंता, सहायक अभियंता , कनिष्ठ अभियंता , तकनीकी सहायक, वास्तुविशारद ,डीआईएलआर, समाज विकास अधिकारी, सिलेक्शन ग्रेड स्टेनो, झेरोक्स आपरेटर के पद रिक्त हैं। सरकार से इन पदों को भरने की मांग एक पत्र द्वारा की गई है।

Loading Comments