Advertisement

दशहरा रैली को लेकर शरद पवार ने उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे को दी सलाह

शिवसेना के दोनो ही गुट दशहरा रैली का आयोजन कर रहे है।

दशहरा रैली को लेकर शरद पवार ने उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे को दी सलाह
SHARES

उद्धव ठाकरे  ( uddhav thackeray) और मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ( eknath shinde) के नेतृत्व में शिवसेना ( shiv sena)  के धड़ों ने अलग-अलग दशहरा रैलियां ( Dussehra rally) आयोजित करने की तैयारी कर ली है। हालांकी दोनो ही गुट को NCP  प्रमुख शरद पवार ने सोमवार को कहा कि किसी को भी अपनी सीमा पार नहीं करनी चाहिए।

'दोनों धड़ों को एक-दूसरे की आलोचना करते हुए अपनी सीमा नहीं लांघनी चाहिए'

शहर में पूर्व केंद्रीय मंत्री सुशील कुमार शिंदे( SHUSHIL KUMAR SHINDE)  के सम्मान समारोह के बाद उन्होंने कहा, "विभाजित शिवसेना के दोनों धड़ों को एक-दूसरे की आलोचना करते हुए अपनी सीमा नहीं लांघनी चाहिए क्योंकि यह राज्य के लिए अच्छा नहीं होगा।"

उन्होंने कहा कि "राज्य के प्रमुख की जनता के प्रति अधिक जिम्मेदारी है, यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि दोनों गुट पार्टी पर दावा कर रहे हैं,  हमारे जैसे वरिष्ठ सदस्यों की जिम्मेदारी है कि राज्य में राजनीतिक स्थिति खराब न हो,  हालांकि, राज्य की 14 करोड़ आबादी का प्रतिनिधित्व करने वाले  प्रमुख पर  ज्यादा जिम्मेदारी है और हमें उम्मीद करनी चाहिए कि वह अपनी जिम्मेदारी को कुशलता से निभाएंगे ”

इसके साथ ही शरद पवार ने साफ कर दिया की अंधेरी पूर्व विधानसभा सीट पर तीन नवंबर को होने वाले उपचुनाव मे एनसीपी  पार्टी शिवसेना को सहयोग करेगी।

शिवसेना मुंबई के शिवाजी पार्क में दशहरा रैली का आयोजन कर रही है। यह प्रथा शिवसेना के संस्थापक बालासाहेब ठाकरे द्वारा शुरू की गई थी और उनके निधन के बाद से, उनके बेटे और पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे वहां से जनता को संबोधित कर रहे हैं। 

एकनाथ शिंदे द्वारा  पार्टी के भीतर विभाजन के बाद, दोनों गुटों ने वहां अपनी रैलियां आयोजित करने की अनुमति मांगी। हालांकि, बॉम्बे हाईकोर्ट ने ठाकरे गुट को शिवाजी पार्क में अपनी रैली करने की अनुमति दी, जबकि शिंदे खेमे को बीकेसी मैदान में अपनी रैली करने की अनुमति दी।

यह भी पढ़ेअंधेरी उपचुनाव की घोषणा, 3 नवंबर को मतदान, 6 नवंबर को मतगणना

संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें