महिला वोटरों को रिझाएगी शिवसेना

इस कार्यक्रम के अंतर्गत आनेवाले 9 से 11 सितंबर के दौरान राज्य के 25 जिलों में शिवसेना की 20महिला नेता अलग अलग इलाको में रैली करेंगी।

SHARE


शिवसेना के आदित्य ठाकरे ने मतदाताओं को आकर्षित करने के लिए जन आशीर्वाद यात्रा का आयोजन किया। तो वही आदेश बांदेकर ने माऊली यात्रा का आयोजन किया था। हालांकी अब महिला वोट बैंक को अपनी ओर खिंचने के लिए शिवसेना ने  एक नया कार्यक्रम आयोजित करने का फैसला किया है।  इस कार्यक्रम का नाम 'प्रथम तीहोगा। इस कार्यक्रम के अंतर्गत आनेवाले से 11 सितंबर के दौरान राज्य के 25 जिलों में शिवसेना की 20महिला नेता अलग अलग इलाको में रैली करेंगी।  

महिला वोट पर नजर
पहले चरण में  परभणीनांदेड़, सोलापुर, औरंगाबाद, उस्मानाबाद जिलों में इन सभाओं का आयोजन किया जाएगा।   पिछले कुछ दिनों से मुख्यमंत्री के पद को लेकर शिवसेना और भाजपा के बीच रस्साकसी शुरू हो गई है। हालांकी एक कयास ये भी लगाए जा रहा है की आनेवाले समय में पिछली बार के विधानसभा चुनाव की तरह इस चुनाव में भी बीजेपी और शिवसेना अलग अलग चुनाव लड़ सकते है जिसे देखते हुए बीजेपी और शिवसेना ने अपनी पूरी ताकत अभी से ही झोकना शुरु कर दी है।  


शिवसेना ने फसल बीमा और किसानों की कर्ज माफी के मुद्दे पर सरकार विरोधी रुख अपनाते हुए संकेत दिया है कि अगर समय मिला तो वे अपने दम पर लड़ने को तैयार हैं। दूसरी ओर, भाजपा के नेता भी अपनी भाषा का उपयोग करके शिवसेना पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहे हैं।  पार्टी का एक आंतरिक सर्वेक्षण इस नतीजे पर पहुंचा था कि अगर आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा ने अपने दम पर चुनाव लड़ती है तो वह अपने दम पर ही बहूमत हासिल कर सकती है।  

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें