SHARE

बैन का बाद भी दुकानों पर प्लास्टिक की थैलियां बिकने की सूचना मिलने के बाद पर्यावरण मंत्री रामदास कदम ने भारी नाराजगी जताते हुआ कहा कि,किसी भी दुकान में प्लास्टिक के कैरी बैग,कोई भी वस्तु या फिर पैकेजिंग मटिरियल मिला है तो उस दुकानदार का लायसेंस तत्काल रद्द किया जाए। मंत्रालय में हुई एक बैठक में रामदास कदम ने यह बातें कहीं। इस बैठक में युवासेना अध्यक्ष आदित्य ठाकरे भी मौजूद थे।

मंत्रालय में इस संदर्भ में हुई बैठक में कदम ने यह बात कही। कदम ने आगे कहा कि पहले दुकानदारों से हलफनामा लिया जाएगा कि वे प्रतिबंधित प्लास्टिक नहीं बेचेंगे और न ही उसका इस्तेमाल करेंगे। उन्होंने आगे कहा कि ई-कॉमर्स पैकिजिंग की यूज के लिए प्लास्टिक का उपयोग करने के लिए मात्र3महीने की छूट दी गयी थी,समय समाप्त होने के बाद दुकानदारों को ईको फ्रेंडली सामानों का उपयोग करना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि गणपति के समय भी थर्माकोल पर 100फीसदी पाबंदी थी उसी तरह से नवरात्री,दशहरा और दिवाली पर भी प्लास्टिक पर पाबंदी रहेगी। 

कदम के मुताबिक पैक हुए पानी की तरह ही चिप्स नमकीन के पैकेट भी वापस देने पर भी भुगतान देने पर चर्चा की गई,इसके लिए कंपनियों को कलेक्शन सेंटर बनाने होंगे। कंपनियों को पैकेटों पर लोगों की सुविधा के लिए यह लिखना होगा कि वापस करने पर 25पैसे या 50पैसे मिलेंगे। 

कदम ने आगे कहा कि राज्य में 290टन प्लास्टिक पबत किया गया है और गुजरात से भी बड़े पैमाने पर प्लास्टिक आ रहे हैं,मंदिरों और पर्यटन स्थलों पर भी प्लास्टिक का उपयोग किया जा रह है,इस बारे में पुलिस और प्रदूषण बोर्ड के अधिकारीयों को कार्रवाई करनी चाहिए।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें