पुनर्विकास में रोड़ा बनें बिल्डरों पर नकेल

 Vidhan Bhavan
पुनर्विकास में रोड़ा बनें बिल्डरों पर नकेल
पुनर्विकास में रोड़ा बनें बिल्डरों पर नकेल
पुनर्विकास में रोड़ा बनें बिल्डरों पर नकेल
See all

मुंबई - मुंबई की ४३२ पुरानी इमारतों के पुनर्विकास प्रकल्पों की एसआयटी के द्वारा जांच करवाई जाएगी और जो प्रकल्प १० वर्ष से अधिक समय से रुके पड़े हैं उनके विकासकों को दी गई परवानगी एसआरए द्वारा रद्द की जाएगी। यह घोषणा गृहनिर्माण राज्य मंत्री रवींद्र वायकर ने मंगलवार को विधानसभा में की है। 

मुंबई शहर और उपनगर की उपकर प्राप्त इमारत के पुनर्विकास के विकास नियंत्रण नियमावली ३३(७) के अंतर्गत पुनर्विकास की परवानगी दिए गए। इन प्रकल्पों को म्हाडा की तरफ से अतिरिक्त एफएसआय दिए गए थे। जिससे लोगों को बजट में घर मिल सके। मुंबई में एनओसी प्रमाणपत्र मिले ३३ प्रकल्पों के सिवाय ४३२ प्रकल्पों को म्हाडा ने १,५६,५२०.४१ चौ.मीटर अतिरिक्त निर्माण क्षेत्रफल दिया। जिसमें ३१,३१९.७९ चौ.मी निर्माण क्षेत्रफल म्हाडा से प्राप्त हुए। बावजूद इसके रहिवासियों को घर नहीं मिला। जिसे लेकर विधानसभा में आशीष शेलार में प्रश्न उठाया।

जिसका जवाब देते हुए गृहनिर्माण राज्य मंत्री रवींद्र वायकर ने बताया कि मुंबई की ४३२ पुरानी इमारतों के पुनर्विकास प्रकल्पों की एसआयटी के द्वारा जांच करवाई जाएगी और जो प्रकल्प १० वर्ष से अधिक समय से रुके पड़े हैं उनके विकासकों को दी गई परवानगी एसआरए द्वारा रद्द की जाएगी।

Loading Comments