नगरसेवकों का प्रचार क्यों हो रहा महापौर के रूप में?

 Mumbai
नगरसेवकों का प्रचार क्यों हो रहा महापौर के रूप में?

मुंबई - मुबई के महापौर पद के लिए शिवसेना की तरफ से वर्तमान स्थायी समिति अध्यक्ष यशोधर फणसे और बीजेपी के बीएमसी के गटनेता मनोज कोटक का नाम चर्चा में है। इस चर्चा के चलते विभाग की जनता की जवाबदारी बढ़ गई है। जनता के बीच सवाल खड़ा हो गया है कि अगर इन्हें वोट नहीं करते हैं तो विभाग को मिलने वाला महापौर पद का मान गायब हो सकता है? शिवसेना के यशोधर फणसे अंधेरी पश्चिम स्थित लोखंडवाला परिसर के प्रभाग 60 से चुनाव लड़ रहे हैं। शिवसेना की अगर पुनः सत्ता में वापसी होती है तो फणसे महापौर बनेंगे। जिसके चलते इस प्रभाग में उनके समर्थक महापौर पद के उम्मीदवार के रुप में परोसकर प्रचार कर रहे हैं। वहीं बीजेपी की सत्ता आने पर मनोज कोटक का नाम महापौर बनने की लिस्ट में सबसे ऊपर है। इसी के चलते उनके समर्थक कोटक का प्रचार भावी महापौर के रूप में कर रहे हैं। 

यशोधर फणसे की टक्कर वर्तमान कांग्रेस नगरसेविका जोस्ना दिघे और स्थानीय विधायक भारती लव्हेकर के भांजे और बीजेपी उम्मीदवार त्यागराज दभाडकर से है। वहीं कोटक की टक्कर पूर्व महापौर कांग्रेस के नेता आर.आर. सिंह के बेटे डॉ. आर.आर. सिंह और शिवसेना के बाबू संसारे से है। 

 

Loading Comments