क्रिसमस पर मानवता की दीवार

मुलुंड पूर्व - रंग कौशल्य कट्टा नामक एक समाजसेवी संस्था की तरफ से मानवता की दीवार बनायी गयी है। यह कोई ईंट, सीमेंट की बनी कोई आम दीवार नहीं है बल्कि मानवता की दीवार है। मानवता की दीवार उसे कहा जाता है जहां सक्षम लोगों द्वारा एक स्थान पर गरीबों के लिए कपड़े, बर्तन, खाने पीने की वस्तु या फिर आम जीवन में काम आने वाले सामान रखे जाते हैं और फिर उन्हें गरीबों में बांट दिया जाता है। इस कार्यक्रम का आयोजन अक्सर क्रिसमस के अवसर पर किया जाता है। विदेशों में यह काफी प्रचलित है। यह कार्यक्रम हमें देना सिखाता है। अक्सर हम अपने घर की पुरानी वस्तुओं को फेंक देते हैं या फिर वे रखे-रखे ख़राब हो जाती हैं जो कि किसी के काम नहीं आती तो ऐसी वस्तुओं को मानवता की दीवार पर रखा जाए ताकि कोई जरूरतमंद व्यक्ति उसका उपयोग कर सके।

Loading Comments