5 वां सतीश सबनीस ओपन रैपिड शतरंज चैंपियनशिप 11 मार्च को!

यह शतरंज प्रतियोगिता 11 मार्च , रविवार 2018 से शुरू होगी। इस वार्षिक प्रतियोगिता का आयोजन सतीश सबनीस की याद में किया जाता है।

  • 5 वां सतीश सबनीस ओपन रैपिड शतरंज चैंपियनशिप  11 मार्च को!
  • 5 वां सतीश सबनीस ओपन रैपिड शतरंज चैंपियनशिप  11 मार्च को!
  • 5 वां सतीश सबनीस ओपन रैपिड शतरंज चैंपियनशिप  11 मार्च को!
  • 5 वां सतीश सबनीस ओपन रैपिड शतरंज चैंपियनशिप  11 मार्च को!
SHARE

शिवाजी पार्क जिमखाना और सतीश सबनीस फाउंडेशन की ओर से हर साल की तरह इस साल भी सतीश सबनीस ओपन रैपिड शतरंज चैंपियनशिप का आयोजन किया गया है। इस साल 'सतीश सबनीस ओपन रैपिड शतरंज चैंपियनशिप' का 5 वां संस्करण है।



मुंबई शहर जिला शतरंज एसोसिएशन के साथ मिलकर इस प्रतियोगिता का आय़ोजन किया जा रहा है। यह शतरंज प्रतियोगिता 11 मार्च , रविवार 2018 को शुरू होगी। इस वार्षिक प्रतियोगिता का आयोजन सतीश सबनीस की याद में किया जाता है।


सतीश सबनीस शतरंज प्रतियोगिता संपन्न, 300 से अधिक खिलाड़ियों ने लिया हिस्सा


राष्ट्रीय स्तर के शतरंज खिलाड़ी रहे सतीश सबनीस ने खुद 1984 में पहली बार शतरंज चैंपियनशिप का आयोजन किया था।  सतीश सबनीस , महाराष्ट्र चेस एसोसिएशन के अध्यक्ष रहे है, इसके साथ ही वह अखिल भारतीय शतरंज फेडरेशन के उपाध्यक्ष और दुबई शतरंज ओलंपियाड के प्रबंधक रहे है जो संयोगवश विश्वनाथन आनंद की पहली अंतर्राष्ट्रीय शतरंज टूर्नामेंट थीं।



इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए प्रतियोगी 9 मार्च तक शिवाजी पार्क जिमखाना में सुबह 10 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते है। इस प्रतियोगिता में प्रवेश शुल्क 500 रुपये रखी गई है और विलम्ब शुल्क 100 रुपये है। प्रतियोगिता में कुल 1 लाख 59 हजार के नकद इनाम दिये जाएंगे।


क्या है सतीश सबनीस ओपन रैपिड शतरंज चैंपियनशिप 

पिछले 5 सालों से शतरंज के खिलाड़ियों को अच्छा प्लेटफॉर्म देने और अच्छे टैलेंट वाले खिलाड़ियो को लोगों के सामने लाने के लिए सतीश सबनीश फाउंडेश लगातार इस दिशा में प्रयत्नशील है। खिलाड़ियों को ना ही सिर्फ इनामी राशि दी जाती है बल्की उन्हे उनके भविष्य के लिए संस्था द्वारा अच्छे अवसर भी प्रदान किये जाते है। पिछले चार सालों से संस्था खेल को बढ़ावा देने के लिए अलग अलग खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन करती आ रही है। खेल के साथ साथ संस्था सामाजिक कार्यों में भी बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेती है।


शतरंज में असाधारण प्रदर्शन के लिए 7 वर्षीय बच्चे ने जीता राष्ट्रपति पुरस्कार


स्वर्गीय सतीश सबनीस के बारे में

स्वर्गीय सतीश सबनीस शतरंज की दुनिया में एक जाना माना चेहरा है।1984 में पहली बार उन्होने अंतरराष्ट्रीय शतरंज प्रतियोगिता का आयोजन किया। शतंरज के प्रति उनका लगाव किसी से छुपा नहीं था। शतरंज के प्रति ये उनकी तपस्या ही थी जो उन्हे इस खेल में राज्य और देश स्तर के प्रतियोगिताओ में प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला। स्वर्गीय सतीश सबनीस महाराष्ट्र शतरंज संगठन के अध्यक्ष और राष्ट्रीय शतरंज फेडरेशन के उपाध्यक्ष भी रहे। वह दुबई शतरंज ओलंपियाड के प्रबंधक भी रहे। ग्रॅण्डमास्टर विश्वनाथन आनंद का यह पहला विदेश दौरा था I ग्रॅण्डमास्टर प्रवीण ठिपसे, अभय ठिपसे, भाग्यश्री साठे जैसे बहोत से चेस खिलाडियों को सतीश सबनीस जी का मार्गदर्शन मिला था 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें