क्या है रैंसमवेयर वायरस ?, कैसे बचे इससे...जानिए आईटी एक्सपर्ट अच्युत गोडबोले से

 Mumbai
क्या है रैंसमवेयर वायरस ?, कैसे बचे इससे...जानिए आईटी एक्सपर्ट अच्युत गोडबोले से

रैंसमवेयर वायरस के कारण आरबीआई ने बैंको को आदेश दिया है की जिन एटीएम के सॉफ्टवेयर अपडेट नहीं हैं, उन्हें जल्द से जल्द अपडेट किया जाए। इतना ही नहीं भारत के साथ साथ पूरी दुनिया में इस वायरस को लेकर काफी चिंता व्यक्त की जा रही है। आखिर क्या है ये रैंसमवेयर वायरस ?आखिर क्यों पूरी दुनिया है इससे परेशान?क्या कहना है विशेषज्ञो का? जानते है आईटी एक्सपर्ट अच्युत गोडबोले से- 


प्रश्न- रैंसमवेयर वायरस क्या है?
अच्युत गोडबोले - रैंसमवेयर वायरस का पूरा नाम वानाक्राय रैंसमवेयर वायरस है। ये बाकी के वायरसो से अलग है। आप अगर किसी भी वायरस पर क्लिक करते है तो ये आपके फाइल को नष्ट कर सकते है। रैंसमवेयर वायरस डाटा नष्ट या चोरी नही करते है। ये डाटा इनस्क्रिट करते है। डेटा इनस्क्रिट करने का मतलब होता है की जबतक वायरस ना चाहे तब तक हम उस डाटा को पढ़ नहीं सकते । ये वायरस अगर एक बार आपके पीसी या किसी भी डिवाइस में गया तो सारे डाटा तो इनस्क्रिट कर देता है। ये वायरस डेटा को फ्रि करने के लिए पैसे मांगता है और आप जब पैसे पे करते है तो ये वायरस अपने आप चला जाता है।

प्रश्न- किस प्रकार के कमप्युटर को इस वायर से खतरा है?
अच्युत गोडबोले - विंडो एक्सपी पर चलनेवाले कम्प्युटर को इस वायरस से ज्यादा खतरा है। माईक्रोसॉफ्ट का दावा है की जिन कंम्प्युट में अपडेटेड सॉफ्टवेर है उनको इस वायरस से कोई भी खतरा नहीं है।

प्रश्न - देश के कंम्प्युटर प्रणाली पर इसका कितना असर पड़ेगा?
अच्युत गोडबोले - आरबीआई के दिए जानकारी के अनुसार देश के 70 फिसदी एटीएम विंडो एक्सपी पर चलते है। जिसके चलते देश के कई एटीएम को बंद रखा गया है। इस वायरस से बचने के लिए आपको अपना सिस्टम अपग्रेड करना होगा। जिसे देखते हुए राज्य और केंद्र सरकार ने एक एडवाइजरी भी जारी की है।

प्रश्न- इस वायरस के लिए अमेरिका की ऱाष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी को जिम्मेदार क्यो माना जा रहा है?
अच्युत गोडबोले -अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी ने अन्य देशों के डेटा चोरी करने के लिए इस वायरस का इस्तेमाल किया था। कुछ लोगों ने इस वायरस को चोरी कर लिया। जिसका अब वह गलत इस्तेमाल कर रहे है।


प्रश्न- इस वायरस का अमेरिका को छोड़ अन्य देशो पर कितना पड़ेगा?
अच्युत गोडबोले - अमेरिका ने इस वायरस का समाधान खोज लिया है। इस वायरस पर रिसर्च कर उन्होने इसे डिस्क्रिप्ट करने का उपाय खोज लिया है। जिसके कारण अमेरिका को इससे ज्यादा खतरा नहीं है लेकिन अभी तक अमेरिका ने इस सार्वजनिक नहीं किया है


प्रश्न - लोगों को किस तरह की सावधानियां बरतनी चाहिए?
अच्युत गोडबोले - जहां तक हो सके आप कंम्प्युटर का इस्तेमाल कम से कम करे, हो सकते तो अंजाने मेल ना खोले, एंटी वायरस को अपडेट करें, विंडो एक्सपी है तो उसे जरुर अपडेट करें

Loading Comments