जून से पहले Idea और Vodafone का विलय, कुमार मंगलम बिड़ला होंगे नॉन एक्जिक्यूटिव चेयरमैन

गौरतलब है की दोनों ही कंपनियों ने देश के कई हिस्सों में पहले से ही 4जी सेवाएं देनी शुरु कर दी है।

SHARE

जीओ को टक्कर देने के लिए देश की दो बड़ी  टेलिकॉम सेक्टर की कंपनियां आईडिया और वोडाफोन ने पिछलें साल अपने विलय का ऐलान किया था।  जून से पहले Idea और Vodafone का विलय हो जाएगा। दोनों ही कंपनियों की ओर से इसकी घोषणा कर दी गई है।  इस कंपनियों के वियल से जो नई कंपनी बनेगी उसमे  दोनों ही कंपनियों के सदस्य होंगे।  

कुमार मंगलम बिड़ला होंगे नॉन एक्जिक्यूटिव चेयरमैन



दोनों ही कंपनियों ने एक साझा बयान देते हुए कहा की आदित्य बिड़ला ग्रुप के मालिक कुमार मंगलम बिड़ला  नई कंपनी के नॉन एक्जिक्यूटिव चेयरमैन होंगे। जबकि कंपनी के सीईओ वर्तमान में वोडाफोन के सीओओ बालेश शर्मा होंगे।वोडाफोन को जहां नई कंपनी का सीईओ का पद मिलेगा तो वहां आइडिया के पास नई कंपनी के CFO का पद होगा।

कैसे मिलेगी जीओ को टक्कर
 
दरअसल वोड़ाफोन और आईडिया मौजूदा समय में देश की तीसरी और चौथी सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी है। अगर दोनों कंपनियां एक साथ आ जाती है तो ग्राहकों की संख्या के लिहाज ये ये कंपनी जीओ और एयरटेल को भी पछाड़ देगी जो मौजूदा दौर में नंबर एक की पायदान पर है।  इसके साथ ही दोनों कंपनियों का नेटवर्क भी एक साथ आने पर नेट और कॉलिंग की स्पीड बढ़ जाएगी। गौरतलब है की दोनों ही कंपनियों ने देश के कई हिस्सों में पहले से ही 4जी सेवाएं देनी शुरु कर दी है।  

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें