बांद्रा में ऑटो वालों की मनमानी

बांद्रा- बांद्रा स्टेशन के बाहर ट्रैफिक विभाग ने जब से शेयरिंग रिक्शे की अनुमति दी है तब से यात्रियों की परेशानी कम होने के बजाय बढ़ गई है। यात्रियों को तत्काल कहीं जाना हो तो रिक्शा वाले जल्दी तैयार नहीं होते। रुबी नाम की एक महिला का आरोप है कि उसने अपनी मां को लीलावती हॉस्पिटल ले जाना था लेकिन ऑटो वाले तैयार नहीं हुए। ऑटो रिक्शा वालों की मनमानी का आलम यह है कि मीटर से चलने को वे तैयार ही नही होते। इस बारे में ट्रैफिक विभाग के अधिकारी मछिन्दर बोडके से बात करने पर उन्होंने बताया कि इन पर कार्रवाई की जा रही है। गुरूवार को 57 रिक्शा चालकों के खिलाफ एक्शन लिया गया। जिसमें बिना लाइसेंस,बिना बैच और बिना वर्दी के ऑटो चलाने के मामले शामिल हैं।

Loading Comments