आसनगांव स्टेशन पर यात्रियों का रेल रोको आंदोलन!


SHARE

वैसे अक्सर देखा जाता है कि मध्य रेलवे की लोकल 10-15 देरी से ही चलती है। इस लेट लतीफी का आज अंजाम यह हुआ कि यात्री आंदोलन पर उतर आए।  हमेशा की तरह लेट लतीफी की वजह से कंटाल आए यात्रियों ने मंगलवार की सुबह आसनगांव स्टेशन पर रेल रोको आंदोलन किया।

सुबह साड़े 8 बजे के लगभग परेशान यात्रियों ने रेल रोको आंदोलन किया। रेल्वे स्टेशन पर लोकल छोड़ने से पहले एक्स्प्रसे को ग्रीन सिग्नल देने के चलते यह आंदोलन हुआ।

क्यों हुआ रेल रोको आंदोलन?

आसनगांव से साड़े 8 बजे छूटने वाली गाड़ी स्टेशन पर थी, तभी मनमाड़ मुंबई मार्ग पर जाने वाली राज्यरानी एक्स्प्रेस आसनगांव स्टेशन पर आई। तभी यात्रियों को पता लगा कि आसनगांव स्टेशन से राज्यरानी एक्स्प्रेस को पहले सिग्नल दिया जा रहा है और उन्होंने लोकल को पहले छोड़ने की मांग की।

इस मांग के लिए लोकल से यात्री उतरकर ट्रैक पर आ गए। कुछ ही मिनटों में रेलवे प्रशासन ने लोकल पहले छोड़ने का निर्णय लिया। साड़े 8 बजे की लोकल 15 से 20 मिनिट देरी से छूटी।

रेल रोको आंदोलन करना क्राइम

मंगलवार की सुबह आसनगांव स्टेशन पर रेल रोको आंदोलन करने वाले यात्रियों पर जीआरपी के पास मामला दर्ज किया जाना है। वहीं आसनगांव रेलवे स्टेशन पर रेल रोको हुआ ही नहीं इस तरह का दावा मध्य रेलवे ने किया है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें