Advertisement

मीरा- भायंदर से डोंबिवली बनेगा वाटर ट्रांसपोर्ट

40 मिनट तय होगी मीरा- भायंदर से डोंबिवली की दूरी

मीरा- भायंदर से डोंबिवली बनेगा  वाटर ट्रांसपोर्ट
SHARES

नेवाले दो सालों में  मीरा- भायंदर से डोंबिवली तक सफर सिर्फ 40 मिनट में पूरा हो जाएगा।  उद्धव ठाकरे सरकार में कपड़ा और बंदरगाह मंत्री असलम शेख ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा की   वाटर ट्रांसपोर्ट के माध्यम इसे हकिकत में बदला जाएगा।  असलम शेख ने कहा की  "मीरा- भायंदर से डोंबिवली के वाटर रूट में जेट्टी (प्लेटफार्म ) बनाने के लिए अगले 2 महीनों के भीतर 86 करोड़ रुपए का टेंडर निकाला जाएगा, इस प्रोजेक्ट को 2 साल में पूरा करने की योजना है, इस रूट में कोलशेत, काल्हेर, गायमुख समेत 4 स्टेशन होंगे"

ट्रैफिक से मिलेगी राहत

सरकार के इस प्रोजेक्ट से लोगों को ट्रैफिक से काफी राहत मिलेगी। असलम शेख का कहना है की इस प्रोजेक्ट के पूरा होने के बाद मीरा-भायंदर व डोंबिवली के बीच में रहने वाले लोगों को बढ़ती ट्रैफिक की समस्या से राहत मिलेगी।  मौजूद  समय में  मीरा-भायंदर से डोंबिवली तक जाने के लिए लगभग ढाई घंटे का समय लगता है। हालांकी यह प्रोजेक्ट पूरा होने के बाद यह समय घटकर 40 मिनट रह जाएगा। 

पर्यटन को भी मिलेगा बढ़ावा

इसके साथ ही असलम शेख का कहना है की इससे महाराष्ट्र में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। सरकार का कहना है इस सुविधा से आम लोगों के समय की बचत होगी, वहीं पर्यटकों के लिए भी यह एक आकर्षण का केंद्र होगा।  जलमार्ग का उपयोग करने से 33 प्रतिशत ईंधन की बचत होगी और करीब 42 प्रतिशत प्रदूषण कम होगा।

Read this story in मराठी or English
संबंधित विषय