SHARE

4 दिन तक चली एसटी कर्मचारियों की हड़ताल शुक्रवार देर रात खत्म हुई। बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश के बाद एसटी कर्मचारियों ने अपनी हड़ताल वापस ली। लेकिन इस सब के बीच राज्य एसटी मंडल को हड़ताल की वजह से लगभग 88 करोड़ का नुकसान उठाना पड़ा।

बस हड़ताल  को 100 फिसदी सफल बनाने के लिए राज्यभर में बसों की 57 हजार फेरियां चलानेवाली एसटी बस की एक भी बस सड़क पर नहीं उतरी। साथ ही दिवाली के समय पर हर साल एसटी को होनेवाला फायदा इस साल उसके लिए नुकसानदेह साबित हुआ। जिसके कारण एसटी को काफी नुकसान उठाना पड़ा।

ग्रामीण भागों में हुआ ज्यादा नुकसान
दिवाली का समय होने के कारण लोग एसटी के जरिए एक दूसरे के गांव या जगहों पर जाते थे। शहर की बात छोड़ दी जाए तो ग्रामीण भागों में अधिकतर लोग एसटी बसों का इसेतमाल करते है। एसटी मंहामंडल को प्रतिदिन 22 करोड़ का नुकसान उठाना पड़ा।

एसटी महामंडल कामगार संगठना को वेतनवृद्धि की उम्मीद

एसटी महामंडल कामगार संगठना के अध्यक्ष संदीप शिंदे का कहना है की हम बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश का स्वागत करते है। हमें उम्मीद है की उच्च स्तर के अधिकारी जल्द ही समिति के साथ बैठक कर वेतनवृद्धि पर कोई फैसला जरुर लेंगे।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें