बारिश में न हो कोई अनहोनी, 'परे' और 'मरे' तैनात करेंगे प्रशिक्षित जवान

इसी बारिश के महीने में एलफिंस्टन रेलवे स्टेशन में साल 2017 में भगदड़ मच गयी थी जिसमें 20 से अधिक लोगों की मौत हो गयी थी और कई घायल हो गये थे। इसी को देखते हुए रेलवे अब यह कदम उठा रही है।

SHARE

बारिश के मौसम में रेलवे स्टेशनों पर आम दिनों की अपेक्षा अधिक भीड़ देखने को मिलती है। साथ ही यह भीड़ ट्रेनों में भी अधिक दिखाई देती है। और इस बार तो कई स्टेशनों पर सीढ़ियां, एक्सेलेटर, ब्रिज के निर्माण को लेकर कई काम हो रहे हैं। तो मानसून में इन कामों को लेकर भीड़ में कोई अव्यवस्था न हो रेलवे अभी से ही सजग हो गया है। किसी भी अनहोनी से निपटने के लिए NDRF(राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल) की तरफ से मध्य रेलवे के 60 जवानों को प्रशिक्षित किया गया है। साथ ही दोनों मार्गो वेस्टर्न और पश्चिम रेलवे मार्ग पर महाराष्ट्र सुरक्षा बल (MSF) के कुछ जवानों को तैनात करने का निर्णय लिया गया है।

आपको बता दें कि इसी बारिश के महीने में एलफिंस्टन रेलवे स्टेशन में साल 2017 में भगदड़ मच गयी थी जिसमें 20 से अधिक लोगों की मौत हो गयी थी और कई घायल हो गये थे। इसी को देखते हुए रेलवे अब यह कदम उठा रही है।

इस समय पश्चिम रेलवे और मध्य रेलवे के उपनगरीय स्टेशनों पर पुलों का काम चलने के कारण कई ब्रिज बंद किये गये हैं। ब्रिज बंद होने के कारण दुसरे पर्यायी ब्रिज पर अधिक भीड़ हो जाती है। इससे लोगों को परेशानियां तो होती ही है साथ ही भीड़ एक ही जगह जमा होने के कारण भगदड़ का भी डर बना रहता है। इसीलिए कोई अनहोनी न हो, भीड़ को नियंत्रित करने के लिए रेलवे के प्रशिक्षित जवान तैनात किये जाएंगे।

इन जवानों का काम आपातकालीन परिस्थितयों में काम करना, भीड़ को नियंत्रित करना, लोगों को मेडिकल सुविधा उपलब्ध कराना जैसे अन्य कार्य होंगे। बताया जाता है कि इस टीम में कुल 15 लोग होंगे जिन्हें 4 टीम में बांटा गया है। यह टीम सीएसएमटी, दादरम कुर्ला और कल्याण जैसे स्टेशनों पर  तैनात किया जाएगा।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें