राज्य के अलग-अलग हाईवे के लिए अब एक ही होंगे टोलफ्री नंबर

अभी RTO का टोलफ्री नंबर 1800-220-110 है, जबकि एसटी का टोलफ्री नंबर 1800-22-1250 है, तो वहीँ मुंबई-पुणे हाईवे का हेल्पलाइन नंबर 98224-9 8224 और मुंबई-नासिक हाईवे मार्ग का हेल्पलाइन नंबर 02553-220001 है।

SHARE

किसी भी सड़क दुर्घटना या फिर आपातकाल स्थिति में सहायता के लिए अब लोगों को अलग-अलग हेल्पलाइन नंबरों पर फोन नहीं करना पड़ेगा, क्योंकि अब आरटीओ की तरफ से एक ही हेल्पलाइन नंबर जारी किया जाएगा जो सभी मार्गों पर काम आएगा। इसके पहले मुंबई-पुणे हाईवे , मुंबई-नाशिक हाईवे सहित एस.टी.महामंडल के अलग-अलग नंबर थे, जिन्हें अब एक कर दिया जाएगा।

बताया जाता है कि आपताकाल स्थिति में इन हेल्पलाइन नंबरों पर फोन करने पर कभी-कभी संपर्क ही नहीं होता था या फिर ये नंबर बीजी आते थे या बंद आते थे। इन हेल्पलाइन को लेकर कई दिनों से कई शिकायतें मिल रही थीं जिसके बाद RTO ने निर्णय किया कि सभी नंबरों को मर्ज करके एक ही नंबर बनाया जाएगा। इन नंबरों को राज्य की इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी विभाग द्वारा बनाया जा रहा है।

अभी RTO का टोलफ्री नंबर 1800-220-110 है, जबकि एसटी का टोलफ्री नंबर 1800-22-1250 है, तो वहीँ मुंबई-पुणे हाईवे का हेल्पलाइन नंबर 98224-9 8224 और मुंबई-नासिक हाईवे मार्ग का हेल्पलाइन नंबर 02553-220001 है।

अलग-अलग मार्ग पर जा रहे लोगों को आपातकाल स्थिति में इन अलग-अलग हेल्पलाइन नंबर पर फोन करके सहायता की मांग करनी पड़ती थी, कई बार तो लोगों को हेल्पलाइन नंबर याद तक नहीं होते हैं। इसे ही देखते हुए अब RTO एक ही हेल्पलाइन नंबर जारी करने जा रही है जिससे लोगों को सुविधा के साथ साथ आसानी भी होगी।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें