बप्पा को 'ढोल' पसंद है...!

मालाड- मुंबई में बड़े ही धूम धाम से बप्पा की विदाई की जा रही है । पूरें 11 दिनों तक बप्पा की सेवा करने के बाद आज भक्त नम आखों से सुखकर्ता को विसर्जित कर रहे है । विसर्जन के लिए ढोल ताशा बजानें वालों ने भी तैयारी पूरी कर ली है । मालाड के रणझुंजार प्रतिष्ठान ढोलताशा पथक ने भी तैयारी में कोई कसर नहीं रखी । रणझुंजार प्रतिष्ठान ढोलताशा पथक मालाड के गोरसवाडी से लेकर लिबर्टी गार्डन तक पारंपरिक तरिके से ढोल ताशे बजाते हुए बप्पा का विसर्जन करेगा ।

Loading Comments