स्वप्नील सावरकर

कार्यकारी संपादक - मुंबई लाइव्ह। खानेपर दिलोजान से प्यार। प्रयोगशील और परंपरा से हटकर सकारात्मक पत्रकारिता पर विश्वास। मस्ती (मेरी पालतू श्वान) मेरी खुशी के खज़ाने की चाबी। क्रिकेट और तैराकी की दीवानगी।