जब शर्मीले शशि कपूर का दिल विदेशी बाला पर हुआ फिदा, जिंदगी के आखिरी मोड़ तक दिया साथ!

दरअसल शम्मी कपूर दिल्ली गए हुए थे। वहां पर एक प्ले के दौरान उनकी नजर यूएस के मशहूर थिएटर के मालिक जेफ्री केंडल की बेटी जेनिफर केंडल पर पड़ी। देखते ही शशि कपूर को उनसे प्यार हो गया।

  • जब शर्मीले शशि कपूर का दिल विदेशी बाला पर हुआ फिदा, जिंदगी के आखिरी मोड़ तक दिया साथ!
  • जब शर्मीले शशि कपूर का दिल विदेशी बाला पर हुआ फिदा, जिंदगी के आखिरी मोड़ तक दिया साथ!
  • जब शर्मीले शशि कपूर का दिल विदेशी बाला पर हुआ फिदा, जिंदगी के आखिरी मोड़ तक दिया साथ!
  • जब शर्मीले शशि कपूर का दिल विदेशी बाला पर हुआ फिदा, जिंदगी के आखिरी मोड़ तक दिया साथ!
SHARE

शशि कपूर बचपन से ही काफी चार्मिंग थे, उन्हें कपूर खानदान के सबसे हैंडसम मैन का खिताब भी मिला। उनकी लड़कियों की फैन फॉलोविंग बहुत जबर्दस्त थी। एक्ट्रेस शर्मिला टैगोर तो उनकी इतनी बड़ी फान थी, कि शशि कपूर के सैट पर आने पर वे स्तब्ध हो गईं थी। जब तक शशि कपूर वहां रहे शर्मिला शूट ही नहीं कर पा रही थी। जब वे वहां से चले गए तब शूटिंग शुरु हुई। पर इस शर्मीले एक्टर शशि कपूर का दिल देशी नहीं बल्कि विदेशी बाला पर आया।

 

पहली नजर में भाई विदेशी बाला

दरअसल शम्मी कपूर दिल्ली गए हुए थे। वहां पर एक प्ले के दौरान उनकी नजर यूएस के मशहूर थिएटर के मालिक जेफ्री केंडल की बेटी जेनिफर केंडल पर पड़ी। देखते ही शशि कपूर को उनसे प्यार हो गया। हालांकि शुरुआत में जेनिफर ने शशि कपूर को भाव नहीं दिया। पर कुछ समय के बाद जेनिफर को भी शशि कपूर से मोहब्बत हो गई।

 

हाथ पकड़ने में लगा एक महीना

शशि कपूर इतने शर्मीले इंसान थे कि उन्हें जेनिफर का हाथ पकड़ने में 1 महीने का वक्त लगा था। पर जब हाथ पकड़ा तो कभी छोड़ा नहीं, आखिरी सांस तक उनका साथ दिया। उनकी मौत के बाद दूसरी शादी भी नहीं की।


शादी के लिए फाइट

इस शादी के लिए शशि कपूर को काफी पापड़ बेलने पड़े थे। दरअसल वह वो वक्त था जब लव मैरिज करना मुश्किल हुआ करती थी, फिर विदेशी लड़की से शादी करना तो मुश्किल ही था। पर इसके लिए शशि ने अपने बड़े भाई शम्मी कपूर कू मदद ली थी। शशि कपूर पृथ्वीराज कपूर के सबसे छोटे बेटे थे।  

 

शादी के बंधन में बंधा देशी लड़का विदेशी लड़की

इस तरह से जुलाई 1958 में शशि कपूर और जेनिफर विवाह बंधन में बंध गए। उनको इस शादी से दो बेटे कुनाल कपूर, करण कपूर और एक बेटी संजना कपूर पैदा हुई। संजना कपूर पृथ्वी थिएटर संभाल रही हैं।

 

जेनिफर को था कैंसर

जेनिफर कैंसर की बीमारी से जूझ रहीं थी, पर उन्होंने इसका भान कभी शशि कपूर को नहीं होने दिया। और बच्चों की लगातार देखभाल करती रहीं, 1984 में उनकी मौत हो गई। शशि कपूर जेनिफर से इतना प्यार करते थे, कि जेनिफर की मौत के बाद उन्होंने दूसरी शादी नहीं की और बच्चों के सहारे अपना जीवन निकाल दिया।

 

नहीं रहे शशि कपूर

79 वर्षीय शशि कपूर ने सोमवार की शाम मुंबई के कोकला बेन हॉस्पिटल में आखिरी सांस ली। वे बड़ी बीमारी से जूझ रहे थे, और कुछ वक्त से हॉस्पिटल में एडमिट थे।   

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें