Ujda Chaman Review: गंजे का दर्द बयां करती है यह फिल्म!

फिल्म की कहानी साधारण है, फैमिली ड्रामा इंगेजिंग है। सनी ने एक गंजे व्यक्ति का किरदार भी बखूबी निभाया है, पर फिल्म में डायरेक्शन कमजोर नजर आया, जो कि फिल्म के लिए कमजोर कड़ी साबित हुआ।

SHARE

बीते कुछ सालों से बॉलीवुड में कंटेंट ड्रिवेन फिल्मों का काफी अच्छा प्रदर्शन रहा है। अब इस ओर बड़े से बड़े एक्टर और फिल्ममेकर का झुकाव आ रहा है। पर शायद ऐसा पहली बार हो रहा है, जब सेम कहानी और प्लॉट के साथ एक हफ्ते के अंतराल में 2 फिल्में 'उजड़ा चमन' और 'बाला' रिलीज हो रही हैं। 'उजड़ा चमन' में सनी सिंह लीड रोल में हैं, यह फिल्म दर्शकों के लिए 1 नवंबर को रिलीज होगी। वहीं 'बाला' में आयुष्मान खुराना लीड रोल में हैं और यह फिल्म दर्शकों के लिए 7 नवंबर को रिलीज होगी।  पर मीडिया के लिए 'उजड़ा चमन' 2 दिन पहले ही रिलीज हो गई है। फिल्म की कहानी साधारण है, फैमिली ड्रामा इंगेजिंग है। सनी ने एक गंजे व्यक्ति का किरदार भी बखूबी निभाया है, पर फिल्म में डायरेक्शन कमजोर नजर आया, जो कि फिल्म के लिए कमजोर कड़ी साबित हुआ।

30 वर्षीय चमन कोली (सनी सिंह) के पास केयरिंग फैमिली, सरकारी नौकरी तो है, पर एक कमी की वजह से वह बहुत दुखी और चिड़चिड़ा रहता है। उसके पास शाहरुख खान की तरह लहराते बाल नहीं हैं, जिसके चलते उसे कोई लड़की  भाव नहीं देती, साथ ही उसकी शादी में भी दिक्कत जाती है। जिसके चलते चमन का आत्मविश्वास टूटता जाता है, जब कोई लड़की उससे शादी करना चाहती है तो अब वह इसमें कमी निकालने लग जाता है। जो चीज़ उसने खुद फेस की है, वही वह उस लड़की के साथ करने लग जाता है। अब आगे क्या होता है, जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी।

सनी सिंह ने एक गंजे व्यक्ति के किरदार को बारीकी से पकड़ने की कोशिश की है। पर उन्हें अपने एक्सप्रेशन में और मेहनत करने की आवश्यक्ता थी। सपोर्टिंग कास्ट ने अपने अपने अपने किरदार बखूबी निभाए हैं।

एक गंजे व्यक्ति की कहानी के लिए आप बहुत ज्यादा नहीं सोच सकते, अर्थात फिल्म की कहानी ठीक थी, पर डायरेक्शन कई जगह पर कमजोर नजर आया। अगर फिल्म में डायरेक्शन मजबूत होता तो यह फिल्म आपको इमोशनली काफी टच कर सकती थी। यहां पर फिल्म के डायरेक्टर अभिषेक पाठक मात खा गए हैं।

अगर आपने सनी सिंह की फिल्म 'सोनू के टीटू की स्वीटी' देखी है और तबसे आप उनके फैन हैं तो यह फिल्म आप एक बार जरूर देख सकते हैं। अगर ऐसा कुछ नहीं है तो एक महीने का इंतजार करो और घर पर बैठकर आप ऐमज़ॉन प्राइम पर इस फिल्म को देख लेना।

रेटिंग- 2.5/5

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें