नोट बंदी की ये बड़ी समस्याएं...

जुहू गल्ली - 500 और 1000 के नोट पर पाबंदी लगने के बाद जहां एक तरफ बैंकों में पैसा जमा कराने के लिए लोगों को कई - कई घंटे लाइन में खड़ा रहना पड़ रहा है। साथ ही निकासी की राशि भी इतनी कम है की लोगो शादी या दुःख की घड़ी के प्रयोजन को भी सही ढंग से नही पा रहे है। लेकिन इन सब के बावजूद भी लोग इस मुसीबत से निकलने का रास्ता निकाल रहे है। जुहू गली में रहने वाले राजेश चौहान के चाचा लक्ष्मण चौहान की 12 दिन पहले हार्ट अटैक से मौत हो गयी थी। सोमवार को उनके चाचा की बारहवीं थी। जहां एक तरफ परिवार शोक में डूबा हुआ था तो वही बैंक और एटीएएम से मिलाकर एक दिन में महज 6500 हजार ही निकाल पाया। अब इतने पैसे में इतना बड़ा प्रोग्राम तो होने से रहा। लिहाजा परीवार के सदस्यों ने ही इसका हल ढूंढ निकाला। बारवही का कार्यक्रम हो जाने के बाद परीवार के सदस्यों ने खुद ही मिलकर 500 लोगों का खाना बनाया। जिससे ना सिर्फ इनके कैटरर्स के पैसे बचे। बल्की इनको बांरहवी में भी पैसों की कम जरुरत पड़ी।

भले ही लोगों को कुछ दिनों के लिए बैंक और एटीएम की लंबी कतार में खड़ा होना पड़े। लेकिन इस परीवार ने साथ आकर पैसों की इस समस्या का भी समाधान ढूंढ लिया। परीवार के साथ आने से ना ही सिर्फ पैसों की बचत हुई बल्की इनका कार्यक्रम भी बड़े आसानी से हो गया।

Loading Comments