PMC: पीएमसी बैंक और सहकारी बैंक का हो सकता है विलय

एनसीपी नेता और मंत्री जयंत पाटील ने कहा है कि, सरकार PMC बैंक और महाराष्ट्र स्टेट कोऑपरेटिव बैंक (एमएससी) का आपस में विलय कर सकती है।

SHARE

 

पंजाब और महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (पीएमसी) घोटालों के पीड़ितों के लिए राहत देने वाली खबर है। एनसीपी नेता और मंत्री जयंत पाटील ने कहा है कि, सरकार PMC बैंक और महाराष्ट्र स्टेट कोऑपरेटिव बैंक (एमएससी) का आपस में विलय कर सकती है अगर PMC बैंक और महाराष्ट्र स्टेट कोऑपरेटिव बैंक का विलय होता है तो जमाकर्ताओं को जरूर फायदा होगा।

क्या कहा जयंत पाटिल ने?

जयंत पाटिल ने कहा, PMC और राज्य सहकारी बैंकों के अध्यक्षों के साथ मेरी बात हो चुकी है इस विलय का   मकसद पीएमसी के 90 फीसदी पीड़ित डिपॉजिटर्स को राहत देना है। उन्होंने यह भी कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो दोनों बैंक के विलय के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) से भी बात करेगी। 

उन्होंने आगे कहा, इस विलय की प्रक्रिया को लगभग डेढ़ महीने का समय लग सकता है और सहकारी बैंकों की स्थिति अच्छी है तो ऐसे में किसी भी प्रकार की अड़चन नहीं आनी चाहिए

बता दें कि PMC बैंक में हुए 4300 करोड़ रुपये से अधिक घोटाला होने के बाद इसकी जाँच जारी है लगभग हजारों खाताधारकों के पैसे इस बैंक में फंसे हुए हैं यही नहीं अब तक इस मामले में आठ ग्राहकों की मौत भी हो चुकी है इस समय कुछ शर्तों के साथ बैंक ने खाराधारकों  को खाते से एक लाख रुपए तक निकालने की छूट दी है

पढ़ें: PMC घोटाला : बैंक के तीन निदेशकों को किया गया गिरफ्तार

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें