PMC बैक मामला- एक और ग्राहक की मौत

बैंक से पैसे ना निकालपाने के कारण अब तक कुल 8 लोगों की मौत हो गई है

SHARE

पंजाब और महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (पीएमसी) घोटाले के बाद एक के बाद एक कई बैक खाता ग्राहको की मौत की खबरें सामने आ रही है। भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने बैंक को 23 सितंबर से अपने परिचालन को बंद करने के लिए एक नोटिस जारी किया था। इसके बाद, PMC बैंक खाताधारकों में दहशत का माहौल फैल गया था, जो अपने स्वयं के पैसे वापस नहीं ले पा रहे थे।

मेडिकल बिलों का भुगतान करने में असमर्
बैंक से पैस ना निकालने के कारण पहले ही  सात लोगों की जान ले चुका है और हाल ही में 74 वर्षीय एंड्रयू लोबो की ठाणे में उनके आवास पर मृत्यु हो गई। लोबो के पास 26 लाख बैंक में जमा थे और बैंक द्वारा उसकी दिन-प्रतिदिन की जरूरत के लिए दिए गए ब्याज पर निर्भर था। उनके परिवार ने कहा कि वह अपने मेडिकल बिलों का भुगतान करने में असमर्थ थे और इसलिए उनकी मृत्यु हो गई। उनके परिवार ने प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (पीटीआई) को बताया कि लोबो को फेफड़ों में संक्रमण था और उन्हें डॉक्टरों से मिलने और नियमित रूप से दवाएँ लेने के लिए जाना पड़ता था।

एंड्रयू लोबो से पहले भारती सदरंगानी, संजय गुलाटीनिवेदिता बिजलानी, मुरलीधर धर्राफट्टोमल पंजाबीकेशुमलभाई हिंदुजा और कुलदीप कौर विग नाम के खाता धारको ने भी अपनी जान गवां दी है।   सोलापुर में रहने वाली भारती की हृदय गति रुकने से मृत्यु हो गई। संजय गुलाटी और निवेदिता बिजलानी, जो दोनों अंधेरी में रहते थे, और मुरलीधर धर्रा और मुलुंड कॉलोनी के फट्टोमल पंजाबी, पिछले कुछ हफ्तों में मर गए थे। जबकि निवेदिता बिजलानी ने आत्महत्या कीअन्य चार की दिल का दौरा पड़ने से मृत्यु हो गई।

यह भी पढ़े- PMC बैंक के आलावा इन बैंकों के ग्राहकों ने भी किया मतदान का बहिष्कार!

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें