Advertisement

बारवी डैम हुआ ओवरफ्लो, ठाणेकरों के पानी की चिंता हुई दूर

इस साल मानसून के आगमन होने पर जून-जुलाई महीने में बारिश नहीं हुई थी, लेकिन अगस्त महीने में बांध क्षेत्र में भारी बारिश हुई, जिसके बाद इस बारिश से यह डैम पूरी तरह से भर गया।

बारवी डैम हुआ ओवरफ्लो, ठाणेकरों के पानी की चिंता हुई दूर
SHARES

ठाणे जिले को पानी की आपूर्ति करने वाला बारवी डैम रविवार को ओवरफ्लो होकर बहना शुरू हो गया है। यह डैम पिछले साल 4 अगस्त को ही ओवरफ्लो होकर बहने लगा था, जबकि इस साल इस डैम को भरने के लिए अगस्त के अंत तक इंतजार करना पड़ा।

बारवी डैम से ठाणे जिले के MIDC, STEM, KDMC, जीवन प्राधिकरण के माध्यम से कल्याण-डोंबिवली, ठाणे ग्रामीण, मीरा-भायंदर, उल्हासनगर, अंबरनाथ, बदलापुर जैसे इलाकों में पानी की आपूर्ति की जाती है। अब इस बांध के भर जाने से इन शहरों में पानी की चिंता भी दूर हो गई है।

बारवी डैम की ऊंचाई 72.60 मीटर है और जब इस डैम में 72.51 मीटर ऊंचाई तक पानी जमा हो जाता है तो पानी का ओवरफ्लो होने लगता है। 'गोडबोले ऑटोमैटिक गेट' के 11 गेटों में से 4 गेट्स 1, 7, 9 और 10 में से पानी का ओवरफ्लो शुरू हो गया है।

इस साल मानसून के आगमन होने पर जून-जुलाई महीने में बारिश नहीं हुई थी, लेकिन अगस्त महीने में बांध क्षेत्र में भारी बारिश हुई, जिसके बाद इस बारिश से यह डैम पूरी तरह से भर गया।  

जिसके परिणामस्वरूप ठाणेकरों को राहत मिली है, क्योंकि डैम में पानी कम होने के कारण उन्हें भी पानी कटौती का सामना करना पड़ रहा था।

रविवार की सुबह तक, बांध में 97 फीसदी पानी का भंडारण था। उसके बाद फिर से बारिश होने लगी और रात में बांध ओवरफ्लो होने लगा। इस बांध ने 340.78 मिलियन क्यूबिक मीटर पानी जमा हो गया है जिसके बाद से इसमें से ओवरफ्लो होने लगा है।

इस बांध में जमा हुआ पानी मे से 106 मिलियन क्यूबिक मीटर अधिशेष जल में से, 88 MIDC को, KDMC को 23, STEM को 8 और 13 MLD पानी जीवन प्ररधिकारण को आवंटित किया गया है।

बारवी बांध की ऊंचाई बढ़ाने का काम पिछले साल ही पूरा हो गया था। यह काम 1998 से शुरू हुआ था।  हालांकि, इस इलाके में प्रभावित 7 गांवों और 5 बस्तियों के पुनर्विकास की प्रक्रिया में देरी हुई। अंत में, 1100 प्रभावित परिवारों के पुनर्वास के बाद, बांध की ऊंचाई पर काम शुरू हुआ।  इस ऊंचाई के बन जाने से बांध में 106 मिलियन क्यूबिक मीटर से अधिक पानी स्टोर करना संभव हो पाया है।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें