मीठी नदी और पवई झील की साफ सफाई के लिए बीएमसी के किया कनाडाई फर्म के साथ करार

कनाडाई फर्म ने दो जल निकायों को साफ करने के लिए डीसीएल -17 तकनीक का उपयोग करने की योजना पेश की है

SHARE

बृहन्मुंबई नगर निगम यानी की बीएमसी ने  महानगर में मीठी नदी और पवई झील की सफाई के लिए कनाडा की एक फर्म के साथ करार किया है। कनाडाई फर्म ने दो जल निकायों को साफ करने के लिए डीसीएल -17 तकनीक का उपयोग करने की योजना पेश की है जो बीएमसी को भी इसके लिए काफी कारगर साबित होती दिख सकती है , लिहाजा बीएमसी ने अब   कनाडाई फर्म के साथ  मीठी नदी और पवई झील की साफ सफाई के लिए एक करार किया है।  

DCL-17 को विभिन्न अनुप्रयोगों में दुनिया भर में सफलतापूर्वक उपयोग किया गया है। डीसीएल -17 को DASUN इंटरनेशनल इंक (एक कनाडाई कंपनी) द्वारा तैयार किया गया है।  DCL-17 पानी में हानिकारक रोगजनकों और विषाणुओं को मारता है और ढाका, बैंकाक, ग्रेटर टोरंटो क्षेत्र, मिसिसिपी नदी में झीलों में सफलतापूर्वक लागू किया गया है।

भारत में पहली बार इसका इस्तेमाल किया जाएगा। इस मौके पर केनेडियन प्रतिनिधीमंडल के  डेव, स्टीफेन स्टार, हिमांशू पटेलसंजय पांडे और नगरसेवक अभिजित सामंत भी उपस्थित थे।  मीठी नदी (21.35 किमी लंबीसे बारिश के पहले 90 हजार 426 टन कीचड़ निकालना है। इसमें से 44 हजार 946 टन कीचड़ निकाला गया। शहर के बड़े नालों (20.9 किमी) से 28 हजार 124 टन कीचड़ निकालना है, जिसमें से 11 हजार 536 टन कीचड़ निकाला गया है।

यह भी पढ़े- 21 एफओबी से छतों को हटाएगी एमएमआरडीए

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें