शारीरिक रूप से विकलांग लोगों को झेरोक्स मशीन देगी बीएमसी

इस कार्य के लिए बीएमसी 3 करोड़ रुपये खर्च करेगी

SHARE

बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) ने शारीरिक रूप से विकलांग लोगों के लिए झेरोक्स मशीनों के साथ स्वयं को रोजगार के अवसर प्रदान करने का निर्णय लिया है। इस कार्य के लिए बीएमसी 3 करोड़ रुपये खर्च करेगी। मशीनों के वितरण के लिए आवेदन 2019 तक पूरे किए जाएंगे और योजना को संयुक्त कमिशनर द्वारा संभाला जाएगा।

मंगलवार को स्थायी समिति की बैठक में एक प्रस्ताव पारित किया गया था जिसमें कहा गया था कि 300 जेरोक्स मशीन 300 लोगों की लिए अपलब्ध कराई जाएगी , ये मशीन उन लोगों को ही मिलेगी , जिनके पास निवास प्रमाण पत्र होगा।

योग्य उम्मीदवार के लिए ये है योग्यता
उम्मीदवारों को न्यूनतम 18 वर्षीय होना चाहिए और 60 वर्ष से अधिक उम्र के नहीं होना चाहिए
उम्मीदवारों की वार्षिक आय एक लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए
विकलांगता प्रमाणपत्र होना चाहिये और 40 प्रतिशत विकलांगता होनी चाहिये, जिसे अखिल भारतीय शारीरिक और चिकित्सा संस्थान से मान्य होना चाहिये।

चयन प्रक्रिया लॉटरी सिस्टम के माध्यम से की जाएगी। अभ्यर्थियों को अपने आवेदन पत्र, आधार कार्ड, पैन कार्ड, और पीले या नारंगी राशन कार्ड के साथ अपने आवेदन पत्र जमा करना होगा। मशीन की लागत लगभग 95,000 रुपये है, जिसमें से बीएमसी 90,250 रुपये देगी और उम्मीदवार को शेष 4,750 रुपये का भुगतान करना होगा।

इससे पहले, बीएमसी ने शारीरिक रूप से विकलांग लोगों को तीन टायर स्कूटर वितरित किए थे। उन्हें एक अच्छी प्रतिक्रिया मिली और अभी भी इसके लिए आवेदन प्राप्त हो रहे हैं।


यह भी पढ़ेराज्य में निकली 72000 भर्तियों के लिए मंत्रालय में बना वॉर रुम!

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें