SHARE

पानी माफियाओं का मुद्दा गुरुवार को विधानसभा में भी उठा, जिस पर मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने पानी माफियाओं पर कठोर कार्रवाई करने का आदेश दिया। पानी माफियाओं का यह मुद्दा बीजेपी नेता प्रवीण दरेकर ने उठाया था। 


क्या था मामला?
आपको बता दें कि नागपुर में इस समय मानसून सत्र चल रहा है। अधिवेशन के दौरान बीजेपी नेता प्रवीण दरेकर ने कांदिवली पूर्व स्थित क्रांति नगर का मुद्दा उठाते हुए कहा कि कांदिवली का क्रांतिनगर सहित कुछ इलाके भौगोलिक रूप से ऊंचाई पर स्थित है, यहां पानी की सप्लाई मालाड के एक जलाशय से की जाती है। लेकिन पानी माफिया यहां स्थानीय लोगों को महंगे दामों में पानी बेचते हैं। इस पर मुख्यमंत्री ने इस पर रोक लगाने का आदेश दिया और पानी माफियाओं पर कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया।  

क्रांति नगर स्लम इलाके में पानी की सप्लाई करने के लिए मलाड जलाशय में एक 1500 मिमी व्यास की एक बड़ी पाइप लगाई गयी है और उसमें भी 150 मिमी व्यास की पाइप डाली गयी है जिससे पानी की सप्लाई की जाती है। यह इलाका जलाशय से 25 मीटर ऊंची जगह पर स्थित है, इसीलिए उसके निचले भाग में पानी की बड़ी टंकी और पंपिंग स्टेशन की स्थापना की गयी है जहां से पानी  की सप्लाई की जाती है।

पानी माफिया यहां टैंकरों में पानी भर कर उसे महंगे दामों में बेचते हैं। बीएमसी और पुलिस अधिकारियों को पानी माफियाओं पर कार्रवाई करने के आदेश दे दिए गए हैं साथ ही बीएमसी ने यह भी बताया कि 115 अवैध कनेक्शन को भी काट दिया गया है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें