Advertisement

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और विरोधी पक्ष नेता देवेंद्र फडणवीस ने कोल्हापुर में बाढ़ से हुए नुकसान का निरीक्षण किया

चिपलून सहित महाराष्ट्र के कई इलाको में बाढ़ के कारण काफी तबाही हुई है

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और विरोधी पक्ष नेता  देवेंद्र फडणवीस ने कोल्हापुर में बाढ़ से हुए नुकसान का निरीक्षण किया
SHARES

कोल्हापुर(Kolhapaur)  में बाढ़ के बाद, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Chief Minister Udhhav thackeray) ने कोल्हापुर के शिरोल में बाढ़ प्रभावित नृसिंहवाड़ी गांव का दौरा किया। पूर्व सीएम और विपक्ष के नेता (LOP) देवेंद्र फडणवीस (DEVENDRA FADANVIS) भी क्षति का निरीक्षण करने के लिए स्थान पर मौजूद थे।

बाढ़ (Maharashtra flood) से हुए नुकसान पर चर्चा करने के लिए दोनों नेताओं ने संक्षिप्त मुलाकात की। स्टेट इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर के अनुसार, अत्यधिक बारिश और उसके बाद आई बाढ़ के कारण पूरे महाराष्ट्र में 213 लोगों की जान चली गई।राज्य प्रबंधन इकाई ने उल्लेख किया कि प्रभावित क्षेत्रों में बचाव अभियान चलाने के लिए सांगली और कोल्हापुर में कुल 308 राहत शिविर स्थापित किए गए हैं। इस बीच, भारतीय सेना और वायु सेना रत्नागिरी और कोल्हापुर में ग्राउंड स्टाफ की सहायता कर रही है।

राज्य आपदा प्रबंधन इकाई ने बुधवार को कहा कि राष्ट्रीय आपदा राहत बल (एनडीआरएफ) की 16 से अधिक टीमों को ठाणे, रत्नागिरी, सतारा, सांगली और सिंधुगढ़ भेजा गया है। एनडीआरएफ (NDRF) के सहायक कमांडेंट विक्रम ने कहा, 'कोल्हापुर में एनडीआरएफ की छह टीमों को तैनात किया गया है। हम नागरिक और जिला प्रशासन के साथ काम कर रहे हैं। जलस्तर दो फुट कम हो गया है, लेकिन यह अभी भी खतरे के निशान पर है।

इसके अतिरिक्त, भारतीय वायु सेना (IAF) द्वारा बाढ़ राहत में सहायता के लिए दो Mi-17V5s और दो Mi-17s को तैनात किया गया है।

यह भी पढ़े- गणेशोत्सव 2021: लालबागचा राजा गणेशोत्सव मंडल पारंपरिक तरीके से मनाएगा गणेश चतुर्थी

Read this story in English
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें