Advertisement

बीते 10 दिनों में कोरोना ने ली 210 सीनियर सिटीजन की जान

मुंबई में कोरोना का कहर फिर से बढ़ गया है। वरिष्ठ नागरिकों और पुरानी बीमारियों वाले लोगों के संक्रमित होने की अधिक संभावना है।

बीते 10 दिनों में कोरोना ने ली 210 सीनियर सिटीजन की जान
SHARES

बीएमसी (BMC) ने वरिष्ठ नागरिकों और उनके घरवालों से अपील की है कि वे वरिष्ठों का अधिक ध्यान रखें, क्योंकि वे बुढ़ापे और विभिन्न बीमारियों के कारण तेजी से कोरोना (Coronavirus) से संक्रमित हो रहे हैं। बीते 10 दिनों में, 60 वर्ष से अधिक उम्र के 290 वरिष्ठ नागरिकों की कोरोना के कारण मौत हो हुई है। वरिष्ठ नागरिकों की मृत्यु दर 40-60 वर्ष के आयु वर्ग के लोगों की तुलना में ढाई गुना अधिक है।

मुंबई में कोरोना का कहर फिर से बढ़ गया है। वरिष्ठ नागरिकों और पुरानी बीमारियों वाले लोगों के संक्रमित होने की अधिक संभावना है। इसलिए, 60 वर्ष से अधिक के वरिष्ठ नागरिकों को महत्वपूर्ण काम के बिना घर से बाहर नहीं जाना चाहिए, बीएमसी ने अपील की है 7 से 16 सितंबर तक दस दिनों की अवधि के दौरान, 290 वरिष्ठ नागरिकों की मृत्यु कोरोना के कारण हुई। इस अवधि के दौरान, 40 से 60 वर्ष के बीच के 106 लोगों की मृत्यु हो गई। इसमें पुरानी बीमारी वाले कुछ रोगी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें- खुशखबरी! भारत का सदाबहार दोस्त रूस कोरोना की 10 करोड़ वैक्सीन कराएगा उपलब्ध

16 सितंबर को मुंबई में कोरोना से 50 लोगों की मौत हो गई थी। जिसमें 60 वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों की संख्या 37 थी। तो, 40 से 60 आयु वर्ग में 11 और दो लोग 40 वर्ष से कम आयु के थे। बीएमसी के स्वास्थ्य विभाग ने वरिष्ठ नागरिकों की बढ़ती मौत पर चिंता व्यक्त की है। काम के लिए बाहर जाने वाले नागरिकों को अपने घर में वरिष्ठ नागरिकों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। वरिष्ठ नागरिकों के साथ संपर्क से जितना संभव हो उतना बचा जाना चाहिए। दूर से घर पर दादा-दादी के साथ संवाद करें।

यह भी पढ़ें- राज्य में 24 हजार 619 नए मरीज और एक दिन में 398 मौतें

Read this story in मराठी
संबंधित विषय