खतरे में तबेलों का भविष्य

जोगेश्वरी - विकास की दौड़ में मुंबई स्मार्ट सिटी बनने की राह पर है। यहां ऊंचे-ऊंचे टावर बन रहे हैं, लेकिन अभी भी कई स्थानों पर तबेला स्थित है। इन तबेलों को मुंबई के बाहर शिफ्ट करने का आदेश हाईकोर्ट ने दिया था लेकिन इस आदेश का पालन नहीं किया गया। मुंबई में अभी भी कई तबेले हैं जो कोर्ट के आदेश के विरूद्ध धडल्लें से चल रहे हैं। हालांकि तबेले वालों को सरकार जिस स्थान पर शिफ्ट कर रही है उस स्थान पर तबेला वालों ने जाने से मना कर दिया है। तबेला मालिक के अनुसार उन्हें जिस जगह भेजा जा रहा है वो शहर से काफी दूर है जिससे उनके व्यवसाय पर असर पड़ेगा। 2005 में मुंबई में आई बाढ़ से नालों में मरी हुई कई भैंसे मिली थी। जिसके बाद इन तबेलों पर सवाल उठने शुरू हो गये थे। मुंबई हाईकोर्ट ने 2006 में अपने आदेश में तबेलों को मुंबई से बाहर शिफ्ट करने का आदेश दिया था। कई तबेले वालों को शिफ्ट कर दिया गया है लेकिन अभी भी कई तबेले अपने मांगों को लेकर जाने से इनकार कर रहे हैं। इतनी बड़ी संख्या में तबेले वालों को शिफ्ट करना अपने आप में सरकार के लिए भी एक चुनौती है।

Loading Comments