तोड़क कार्रवाई से निकला मलबा लोगों के लिए बना मुसीबत

 Ghatkopar
तोड़क कार्रवाई से निकला मलबा लोगों के लिए बना मुसीबत
तोड़क कार्रवाई से निकला मलबा लोगों के लिए बना मुसीबत
See all

तानसा पाइप लाइन के इर्द गिर्द 10 मीटर तक बने झोपड़ों को हटाने का आदेश हाईकोर्ट ने दिया था। इस आदेश के मद्देनजर 'एन' विभाग के कातोडीपाड़ा, खंडोबा टेकड़ी और राम नगर के डकलाइन ईलाके में अतिक्रमण पर कार्रवाई करते हुए करीब 1938 झोपड़ों को तोड़ा गया, लेकिन तोड़े गये झोपड़ों के मलबे अभी तक रास्तों में पड़े हैं जिससे आने जाने वाले राहगीरों को काफी समस्या हो रही है।

रास्ते में पड़े इस मलबे से सबसे अधिक तकलीफ जय मल्हार, सेवा नगर, कुंभार चाल, वर्षानगर, राहुल नगर, रामनगर और प्रियदर्शनी सोसायटी के रहने वाले लोगों को हो रहा है। स्थानीय निवासी मारुती सालसकर ने बताया कि बीएमसी की तोड़क कार्रवाई के दौरान पाइप लाइन भी टूट गई जिससे कई ईलाकों में पानी के वितरण में भी समस्या आ रही है।

इस बारे में जब 'एन' विभाग के उपायुक्त नरेंद्र बर्डे से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मलबा उठाने का ठेका दिया गया है जिसे जल्द ही हटा दिया जाएगा। विभाग में पानी और रास्ते की समस्या को लेकर भी उपाय किए जा रहे हैं।


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दें) 

Loading Comments