Advertisement

छात्रों के हितों को ध्यान में रखकर ही परीक्षा पर फैसला - मंत्री उदय सामंत

उदय सामंत ने कहा कि अगले दो से तीन दिनों में उस बारे में फैसला ले लिया जाएगा

छात्रों के हितों को ध्यान में रखकर ही परीक्षा पर फैसला - मंत्री उदय सामंत
SHARES
Advertisement

उच्च और तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत ने कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के अनुसार, यह निर्णय छात्रों के हित में लिया जाएगा ताकि राज्य में छात्रों की अंतिम वर्ष की परीक्षाओं पर ध्यान केंद्रित करके उन्हें कोई शैक्षणिक नुकसान न हो।

सामंत ने कहा कि अंतिम सत्र परीक्षा के संबंध में लिए जाने वाले निर्णय पर राज्यपाल के साथ विस्तृत चर्चा हुई है और राज्य समिति को दो दिनों के भीतर परीक्षा के लिए एक मसौदा योजना तैयार करनी चाहिए और रिपोर्ट राज्यपाल और सरकार को सौंपनी चाहिए।


छात्रों को अंतिम वर्ष के ग्रेड कैसे पास करें, इस पर भी चर्चा हुई।  यह निर्णय लेते समय, यह निर्णय लिया जाएगा कि किसी भी छात्र को शैक्षणिक  रूप से नुकसान नहीं पहुंचाया जाना चाहिए और उन्हें छात्रों के भविष्य को देखते हुए आगे की समस्याओं का सामना नहीं करना चाहिए।  इसी समय, यह शिक्षा के अंतर्राष्ट्रीय मानक को प्रभावित नहीं करेगा, छात्रों के स्वास्थ्य और मानसिक स्थिति को ध्यान में रखते हुए, तथ्यों को ध्यान में रखते हुए और शिक्षा की गुणवत्ता को बनाए रखने का निर्णय छात्रों के सर्वोत्तम हित में लिया जाएगा।


राज्य में कई कॉलेजों, विश्वविद्यालय भवनों, छात्रावासों को कोरोना की पृष्ठभूमि पर वर्तमान स्थिति में संगरोध के लिए दिया जाता है।  इसलिए अभी ये कहना मुश्किल है कि ये इमारतें इस्तेमाल के लिए कब खुली होंगी।  ऐसी स्थिति में परीक्षा देना कैसे संभव होगा, इस पर चर्चा हुई।वीडियो कॉन्फ्रेंस में उच्च और तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री प्रजापत तनपुरे, विभाग के सचिव सौरभ विजय, तकनीकी शिक्षा निदेशालय महाराष्ट्र के राज्य निदेशक डॉ अभय वाघ और सभी विश्वविद्यालयों के कुलपति शामिल हुए।



संबंधित विषय
Advertisement