Advertisement

ऊर्जा मंत्री ने टाटा पावर को लगाई फटकार, कहा- गलती हुई है तो उसे स्वीकार करो

मुंबई में बिजली उत्पादन से बिजली की आपूर्ति करने के लिए आईलैंडिंग सिस्टम बनाया गया है।12 अक्टूबर की घटना में ट्रॉम्बे स्थित टाटा पावर का पावर प्लांट शुरू नहीं हो सका था, जिसके बाद यह ब्लैक आउट हो गया था।

ऊर्जा मंत्री ने टाटा पावर को लगाई फटकार, कहा- गलती हुई है तो उसे स्वीकार करो
SHARES

मुंबई (mumbai) और उसके आसपास के इलाकों में 12 अक्टूबर को हुए ब्लैक आउट (black out)  को लेकर महाराष्ट्र के ऊर्जा मंत्री ने टाटा पावर (tata power) को फटकार लगाई है। ऊर्जा मंत्री नितिन राउत (nitin raut) ने कहा कि, अगर गलती हुई है तो उसे मानो। अपनी जिम्मेदारी से मुंह मत मोड़ों।

मुंबई, (mumbai), नवी मुंबई (navi mumbai), ठाणे (thane) क्षेत्र में 12 अक्टूबर को ब्लैक आउट हो गया था। उस समय मुंबई की आईलैंडिंग सिस्टम (i-landing system) संचालन न होने के कारण, रेलवे सहित आवश्यक सेवाओं की बिजली आपूर्ति भी कुछ समय के लिए बाधित हो गई थी। इसके बाद ऊर्जा मंत्री डॉ. नितिन राउत ने इस घटना को गंभीरता से लेते हुए ऐरोली स्थित स्टेट लोड डिस्पैच सेंटर (SLDC) का दौरा कर स्थिति का जायजा भी लिया था।

मुंबई को बिजली की आपूर्ति करने वाली चार 400 केवी लाइनों में से तीन को मरम्मत कार्यों के कारण बंद करना पड़ा था, जिसके बाद पूरे शहर का भार चौथी लाइन पर डाल दिया गया। अतिरिक्त भार पड़ने के कारण चौथी लाइन अपने आप बंद हो गई, जिसके बाद आइलेंडिंग सिस्टम अपने आप बंद पड़ गई और मुंबई शहर सहित आसपास का इलाका अपने आप ब्लैक आउट हो गया।

इस बड़ी गड़बड़ी का पता लगाने के लिए बिजली नियामक आयोग का गठन किया गया, जो अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगा। इस बारे में ऊर्जामंत्री ने भी कहा था कि, दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

मुंबई में बिजली उत्पादन से बिजली की आपूर्ति करने के लिए आईलैंडिंग सिस्टम बनाया गया है।12 अक्टूबर की घटना में ट्रॉम्बे स्थित टाटा पावर का पावर प्लांट शुरू नहीं हो सका था, जिसके बाद यह ब्लैक आउट हो गया था।

विद्युत नियामक आयोग की बैठक में इस बात को स्वीकार करते हुए, टाटा पावर ने आईलैंडिंग प्रणाली को पूरी तरह से बदलने की बात को स्वीकार भी किया था। इस बारे में टाटा पावर ने स्पष्ट करते हुए कहा था कि, इसके लिए पश्चिमी क्षेत्रीय विद्युत समिति और आईआईटी मुंबई की मदद लेंगे।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
Advertisement